Saturday , December 16 2017

पैरिस हमले पर आज़म ख़ान का तबसरा बी जे पी चिराग़प्पा, कार्रवाई का मुतालिबा

सँभल (यूपी): रियासती वज़ीर-ए-आज़म ख़ान ने पैरिस दहशतगर्द हमले को ये कहते हुए कि सुपर पावर्स को सोचना चाहिए कि क्या ये बेक़सूर अफ़राद की हलाकतों का रद्द-ए-अमल तो नहीं है। एक नया तनाज़ा खड़ा कर दिया है। बी जे पी चिराग़प्पा हो गई और उसने आज़म ख़ान के ख़िलाफ़ कार्रवाई का मुतालिबा किया।

आज़म ख़ान समाजवादी पार्टी के सीनियर क़ाइद हैं। उन्होंने पैरिस में दहशतगर्द हमलों की मज़म्मत करने के साथ साथ ये मसले भी आया कि अरब ममालिक में अमरीका और रूस की कार्रवाई से बेक़सूर लोग मारे जा रहे हैं, जिसका कोई जवाज़ नहीं है। उन्होंने कहा कि दहशतगरदों ने पैरिस में जो कुछ किया वो ग़लत है लेकिन क्या अरब मुल्कों पर हमले और बेक़सूर अफ़राद की हलाकतें जो अमरीका और रूस की जानिब से की जा रही हैं, जायज़ हैं।

उन्होंने कहा कि हमें देखना चाहिए कि कौन हलाक हुआ है। इस के बाद ही रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करना चाहिए। ये एक काबिल बेहस मसला है। उन्होंने कहा कि आप बेक़सूर अफ़राद को हलाक करने के लिए ड्रोन तय्यारों से बमबारी करते हैं। ये फ़ैसला तारीख़ ही करेगी कि दहशतगर्द कौन है और कौन ग़लती पर है।

आज़म ख़ान के बयान पर सख़्त रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए बी जे पी ने उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई का मुतालिबा किया और समाजवादी पार्टी की क़ियादत को चैलेंज किया कि अपना मौक़िफ़ बरसर-ए-आम ज़ाहिर करे। बी जे पी ने कहा कि बसूरत-ए-दीगर वो उसे दहशतगर्दी की ताईद तसव्वुर करेगी।

TOPPOPULARRECENT