पोलैंड की प्रजनन दर पर चिंता जाहिर करते हुए सरकार का संदेश, खरगोश की तरह परिवार बढ़ायें

पोलैंड की प्रजनन दर पर चिंता जाहिर करते हुए सरकार का संदेश, खरगोश की तरह परिवार बढ़ायें
Click for full image

पोलैंड की प्रजनन दर पर चिंता जाहिर करते हुए यहां के स्वास्थय मंत्रालय ने एक वीडियो बनाया है. पोलैंड के स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश में जनसंख्या वृद्धि को प्रोत्साहित करने के लिए खरगोश की मदद ली है. इस वीडियो में कहा गया है जिस तरह खरगोश अपने परिवार को बढ़ाते हैं, आम लोगों को भी वैसे ही परिवार बढ़ाना चाहिये. 30 सेंकड के इस वीडियों में खरगोश कहानी कहता नजर आता है. इसमें खरगोश बड़े परिवार के राज बताता है. साथ ही बताता है कि परिवार को कैसे बढ़ाया जाये, अच्छा भोजन किया जाये ताकि तनाव कम हो सके. इस दौरान इसमें एक कपल पिकनिक मनाता भी नजर आता है.

कहानी कहने वाला खरगोश आखिर में अपने संदेश में कहता है, अगर आप कभी मां-बाप बनना चाहें तो उदाहरण खरगोश को मानें. मेरे पिता के 63 बच्चे थे. मैं जानता हूं कि मैं क्या कह रहा हूं. खरगोश को उच्च प्रजनन दर के लिये जाना जाता है.

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी सूचना के मुताबिक, सरकार पोलिश नागरिकों को अच्छी जीवनशैली के लिये प्रेरित करना चाहती है ताकि अपने रिप्रोडेक्टिव सालों, 18-45 वर्ष के दौरान वे फिट रहें और परिवार को बढ़ाने के बारे में तय कर सकें. विश्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक, यूरोपीय देशों में पोलैंड की प्रजनन दर सबसे कम हैं. साथ ही देश की आबादी भी पिछले लंबे समय से घट रही है. साल 2015 में यहां की जनसंख्या 3.8 करोड़ थी.

प्रजनन पोलैंड का सबसे पेचीदा मसला हैं. यहां कड़े एबॉर्शन नियम हैं. साल 2016 में देश में एबॉर्शन पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाने के लिये प्रस्ताव भी लाया गया था जिसका महिला समूहों ने जोरदार विरोध किया था.

Top Stories