प्रणब मुखर्जी दूसरी राष्ट्रपति मीयाद नहीं चाहते

प्रणब मुखर्जी दूसरी राष्ट्रपति मीयाद नहीं चाहते

नई दिल्ली 20 नवंबर: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी यह संकेत दे दिया है कि वह अगले साल राष्ट्रपति भवन के मकीं नहीं रहेंगे जब उनके पांच साल का कार्यकाल पूरा हो जाएगा।

राष्ट्रपति मुखर्जी ने कहा कि “जब मुलाक़ातियों की आगामी सम्मेलन आयोजित होगी, शायद कोई दूसरा ही इस की अध्यक्षता करेंगे लेकिन मुझे यकीन है के कौशल के लिये हमने जिस संघर्ष से लगातार शुरू किया है वह पूरी मेहनत के साथ जारी रहेगा।”

राष्ट्रपति बाएतेबार ओहदा तमाम यूनीवर्सिटीयों के ‘विज़ीटरस’ हैं। विज़ीटरस की तीसरी वार्षिक सम्मेलन के अंत बैठक को संबोधित कर रहे थे जिस में केंद्रीय विश्वविद्यालयों के प्रमुखों ने भाग लिया। प्रणब मुखर्जी जो कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रहे हैं, 2012 में राष्ट्रपति चुने गए थे और अगले साल जुलाई में इस जलील क़द्र पद से सबकदोश हो जाएंगे।

Top Stories