प्रशासन के आगे नहीं चली राजा भैया की गुंडागर्दी, पहली बार निकला ताजिए का जुलूस

प्रशासन के आगे नहीं चली राजा भैया की गुंडागर्दी, पहली बार निकला ताजिए का जुलूस
Click for full image
PC: Patrika

लखनऊ:  यूपी सरकार के बाहुबली मंत्री राजा भैया के पिता उदय प्रताप ने प्रतापगढ़ के कुंडा में हनुमान मंदिर में भंडारा कराने का ऐलान कर एक नए बवाल की जगह बना दी है। गौरतलब है कि 2 दिन पहले ही मुहर्रम पर किसी तरह का भी कोई सांप्रदायिक तनाव न हो इसलिए हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने हनुमान मंदिर पर भंडारा करने पर रोक लगा दी थी। लेकिन ऐसे में उदय प्रताप का ऐसा एलान आने से प्रशासन चौकन्ना हो गया है।

लखनऊ में एडीजी दलबीर चौधरी ने बताया कि प्रतापगढ़ में अगर किसी तरह का तनाव हुआ तो उसका असर पूरे यूपी में होगा। ऐसी कोई घटना न हो इसलिए उदय प्रताप सिंह और उनके कुछ समर्थकों को हाउस अरेस्ट किया गया है। कोर्ट के मुहर्रम पर मंदिर में भंडारा न करने के आदेश के बावजूद भी उदय प्रताप ने इसकी घोषणा कर दी जिसके तहत राजाभैया पर यह आरोप लग रहा है कि हाइकोर्ट की रोक के बावजूद उन के पिता मोहर्रम पर खलल डालने के लिए यह सब कर रहे हैं जिससे मुस्लिम समुदाय में तनाव पैदा हो सकता है।

मुस्लिम समुदाय के लोगों ने उदय प्रताप पर आरोप लगाया है की हर साल जब भी मुहर्रम आता है राजा भैया के पिता उसी दिन भंडारे का ऐलान कर देते हैं, जो उनकी धार्मिक भावनाओं को बहुत ठेस पहुंचाता है। पिछले कुछ वक़्त से यह तनाव का कारण बन जाता है क्योंकि उदय प्रताप हिन्दू संगठनों के साथ मिलकर जिस मंदिर में भंडारा करते हैं वहीं से ताजिये निकालने का भी रास्ता है। इस बार ही जब उदय प्रताप ने ऐसा करने की कोशिश की तो एहतियातन पुलिस ने उनको और उनके समर्थको को हाउस अरेस्ट कर लिया।

Top Stories