Monday , December 18 2017

प्राइमरी असातिज़ा पर 10 सितंबर तक रोक

झारखंड हाइकोर्ट ने प्राइमरी असातिज़ा तकर्रुरी अमल को हतमी शकल देने पर 10 सितंबर तक रोक लगा दी है। इस दरमियान किसी भी उम्मीदवार को तकर्रुरी लेटर नहीं दिया जायेगा। मेरिट लिस्ट को भी हतमी शक्ल भी नहीं दिया जा सकेगा। जस्टिस अपरेश कुमा

झारखंड हाइकोर्ट ने प्राइमरी असातिज़ा तकर्रुरी अमल को हतमी शकल देने पर 10 सितंबर तक रोक लगा दी है। इस दरमियान किसी भी उम्मीदवार को तकर्रुरी लेटर नहीं दिया जायेगा। मेरिट लिस्ट को भी हतमी शक्ल भी नहीं दिया जा सकेगा। जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत ने बुध को असातिज़ा तकर्रुरी से मुतल्लिक़ मुखतलिफ़ दरख्वास्त सुनवाई के बाद इससे मुतालिक हुक्म दिया। रियासती हुकूमत को हदफ़ लेटर के जरिये तौसिह जवाब दाखिल करने को कहा।

हुकूमत ने तकर्रुरी अमल में ताखीर की

अदालत ने कहा साबिक़ 2011 में अदालत ने असातिज़ा तकर्रुरी अमल मुस्तर्द कर दिया था। अगले तालीमी सेशन (मार्च 2012) शुरू होने से पहले तकर्रुरी अमल पूरी करने का हुक्म दिया था। पर अमल शुरू नहीं की गयी।

इससे तकर्रुरी में शामिल उम्मीदवार ओवर एज हो गये। इसमें उम्मीदवार का कोई जुर्म नहीं है। हुकूमत ने तकर्रुरी करने में ताखीर की। प्राइमरी असातिज़ा तकर्रुरी दस्तूरुल अमल बनायी गयी, जिसके बुनियाद पर तकर्रुरी अमल शुरू की गयी। अदालत ने रियासत को दस्तूरुल अमल के तहत तरमीम कर उम्र में छूट देने पर फैसला लेने की हिदायत दिया। खत के जरिये नौ सितंबर तक जवाब दाखिल करने को कहा

ख़्वाह का हक़

ख़्वाह अखिलेश कुमार पांडेय, दशरथ महतो, वीरेंद्र नाथ बेरा और दीगर की तरफ से असातिज़ा तकर्रुरी को लेकर अलग-अलग दरख्वास्त दायर की गयी हैं। ख़्वाह की तरफ से वकील मनोज टंडन ने पैरवी की। अदालत को बताया कि रियासत हुकूमत की गलत पॉलिसियों से हजारों उम्मीदवारों का मुस्तकबिल दावं पर लग गया है। जैक की तरफ से 2011 में आशाअत तकर्रुरी इश्तिहार में कट ऑफ डेट एक जुलाई 2011 रखा गया था, जबकि मौजूदा इश्तिहार में एक अगस्त 2013 रखा गया है। इस वजह से ये उम्मीदवार ओवर एज हो गये। इन उम्मीदवारों को ओवर एज बताते हुए तकर्रुरी अमल से बाहर कर दिया गया है। उन्होंने उम्र में छूट देने के लिए हुकूमत को हिदायत देने की दरख्वास्त किया।

17000 ओहदे पर चल रही तकर्रुरी अमल

रियासत में क्लास एक से पांच में तकरीबन 13,000 हिंदी असातिज़ा और 4,000 उर्दू असातिज़ा की तकर्रुरी अमल चल रही है। नवंबर 2013 में दरख्वास्त जिलावार इन्वाइट किये गये थे। रांची समेत पांच जिलों में तकर्रुरी के लिए मेरिट लिस्ट जारी कर दी गयी है। हुकूमत के एक साल पूरे होने के मौके पर रांची में वजीरे आला ने कुछ सेलेक्टेड उम्मीदवार को तकर्रुरी लेटर दिये थे।

TOPPOPULARRECENT