Tuesday , December 19 2017

प्राइवेट स्कूलों में मनमानी फीस के मुखालिफत में एहतेजाज

सरकारी स्कूलों में हालत खराब है। असातिज़ा से तालीम के साथ कई दीगर काम भी लिये जाते हैं। इसका असर पढ़ाई-लिखाई मुतासीर होने के तौर में दिखता है। प्राइवेट स्कूल हर साल दाखिले के वक्त मोटी रकम वसूलते हैं। फीस में मनमानी इजाफा से गार्जिय

सरकारी स्कूलों में हालत खराब है। असातिज़ा से तालीम के साथ कई दीगर काम भी लिये जाते हैं। इसका असर पढ़ाई-लिखाई मुतासीर होने के तौर में दिखता है। प्राइवेट स्कूल हर साल दाखिले के वक्त मोटी रकम वसूलते हैं। फीस में मनमानी इजाफा से गार्जियन के होश फाख्ता हैं पर क्या करें बच्चे को पढ़ाना है तो मुखालिफत के तगड़े सुर भी नहीं कर सकते। ऐसे में इंतेजामिया अवामी मुफाद में मुदाखिलत करे। यह बात ब्लॉक तालीम ओहदेदार दफ्तर पर जुमेरात को हुए एहतेजाज में पार्षद अनूप साव समेत दीगर मुक़र्ररीन ने कही।

सदारत आजसू नगर सदर शिवराज साव व ओपरेशनल प्रेमबच्चन दास ने किया। अनूप ने कहा कि निजाम भी इस मसला पर संगीन नहीं है। जिला इंतेजामिया के जिम्मेवार अफसरों से अपील की गई कि प्राइवेट स्कूलों में हर साल दुबारा दाखिले और दीगर मद में फीस इजाफा कर दी जाती है। इस पर रोक लगे। तालीम के हक़ कवानीन को स्कूलों में लागू करवाया जाये। सरकारी स्कूलों में सीसीटीवी कैमरा लगाने, बायोमीट्रिक मशीन लगा असातिज़ा की मौजूदगी दर्ज करने, राशन कार्ड, मरदम शुमारी कामों से असातिज़ा को आज़ाद करने, लूटखसोट को बंद करने की मांग उठाई। नौ नुकाती मेमोरेंडम तालीम ओहदेदार के नुमाइंदों को दिया गया। एक नुमायदा वफद जल्द एमपी से मिलकर हालत से जानकारी करायेगा। मणिशंकर केसरी, नवल किशोर शर्मा, प्रदीप सिंह, अरुण जायसवाल, प्रो. गजरे, प्रो. विनोद साव, आरएन दत्ता, अशोक केसरी, रवि केसरी, पवन अग्रवाल, जितेंद्र सिंह, अशोक बर्णवाल, गोविन्द साव, नगीना रजक, नरेश, प्रशांत, अंजू, मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT