प्रिंस सलमान के खिलाफ़ अमेरिका में प्रदर्शन, गिरफ्तार करने की मांग उठी!

प्रिंस सलमान के खिलाफ़ अमेरिका में प्रदर्शन, गिरफ्तार करने की मांग उठी!

सैकड़ों अमेरिकी नागरिकों ने वॉशिंगटन में स्थित अर्जेंटीना दूतावास के सामने प्रदर्शन करके जी-20 शिखर सम्मेलन में भाग ले रहे सऊदी युवराज बिन सलमान की गिरफ़्तारी की मांग की।

अलजज़ीरा टीवी की रिपोर्ट के मुताबिक़ वॉशिंग्टन में स्थित अर्जेंटीना के दूतावास की ओर जाने वाली सड़कें बिन सलमान के ख़िलाफ़ विरोध-प्रदर्शन करने वालों से भरी हुईं थीं।

हज़ारों की संख्या में एकत्रित प्रदर्शनकारी अर्जेंटीना सरकार से मांग कर रहे थे कि वह सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमान को यमनी नागिरकों के नरसंहार और ख़ाशुकजी की हत्या के जुर्म में गिरफ़्तार करे। प्रदर्शनकारियों ने बिन सलमान के विरुद्ध जमकर नारे लगाए और साथ ही अर्जेंटीना सरकार के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा।

अर्जेंटीनी के दूतावास के सामने प्रदर्शन करने वाले अमेरिकी नागरिकों ने डोनल्ड ट्रम्प द्वारा बिन सलमान को बचाए जाने के प्रयासों की कड़े शब्दों में निंदा की और ट्रम्प के ख़िलाफ़ भी नारे लगाए। याद रहे कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने अपने देश की ख़ुफ़िया एजेंसी सीआईए की प्रमुख जीना हास्पेल को वरिष्ठ सऊदी पत्रकार जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या के संबंध में सीनेट के सामने बयान देने से रोक दिया है।

इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने दावा किया है कि सीआईए और दूसरी इंटेलिजेंस संस्थाएं ख़ाशुक़जी हत्याकांड में सऊदी अरब के भूमिका को साबित करने की क्षमता नहीं रखती हैं। दूसरी ओर अमेरिकी मीडिया की रिपोर्टों के अनुसार सीआईए इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि आले सऊद शासन के विरोधी पत्रकार जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या का आदेश सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमान ने व्यक्तिगत रूप से दिया था।

उल्लेखनीय है कि मानवाधिकार संस्था एमेनेस्टी इंटरनेश्नल सहित कई अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकर संस्थाओं ने जी-20 के सदस्य देशों के राष्ट्राध्यक्षों से मांग की है कि वे सऊदी अरब के अंदर और बाहर मानवाधिकारों का उल्लंघन रुकवाने के लिए बिन सलमान पर दबाव डालें।

इससे पहले ह्यूमन राइट्स वॉच ने भी अर्जेंटीना सरकार से मांग की थी कि वह यमन में हो रहे जनसंहार और ख़ाशुक़जी की हत्या में शामिल सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमान को गिरफ़्तार करके उनपर मुक़द्दमा चलाए।

Top Stories