प्रिय शिक्षक को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए छात्रों ने अपनाया आनोखा तरीक़ा

प्रिय शिक्षक को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए छात्रों ने अपनाया आनोखा तरीक़ा
Click for full image

क़ाहिरा: अपने पसंदीदा शिक्षक के संस्थान से चले जाने या दुनिया से विदा होने पर छात्रों को दुख जरूर पहुंचता है लेकिन मिस्र में उस दुःख को अनोखे तरीक़े से छात्रों ने ज़ाहिर किया है. शिक्षक की मृत्यु के बाद उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए स्कूल के छात्रों और छात्राओं ने अलग तरीक़ा अपनाया और एक किलोमीटर लंबी लाइन बनाई है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अल अरबिया डॉट नेट के अनुसार शिक्षक की एहतराम का यह प्रदर्शन अलशर्किया राज्यपाल के शंबारा अल मैमुना स्कूल के छात्र-छात्राओं ने किया है। जब शिक्षक अत्या अब्दुल हाशिम का जनाज़ा ले जाया जाने लगा तो सड़क के दोनों किनारे पर छात्रों ने एक किलोमीटर लंबी लाइन बनाया और उन्हें भरपूर श्रद्धांजलि दी। छात्रों की ओर से अपने शिक्षक के एहतराम का यह प्रदर्शन स्थानीय लोगों के लिए काफी आश्चर्यजनक था। लोगों ने इसे बहुत पसंद किया, छात्रों और स्कूल प्रशासन की सराहना की है।

इस अवसर पर छात्रों का कहना था कि उनके स्वर्गीय शिक्षक अब्दुल हाशिम ने शिक्षण के दौरान अपने प्यार और ज्ञान सिखाने में तनिक भी किसी प्रकार की कंजूसी का प्रदर्शन नहीं किया। छात्र भी इस प्रतिभाशाली शिक्षक से बहुत प्यार करते थे। उनकी अचानक मौत की खबर ने स्कूल के सभी छात्रों को दुखी और उदास कर दिया।

स्वर्गीय मिस्री शिक्षक के साथी शिक्षकों का कहना है कि हाशिम गणित पढ़ाते थे। वह अपने विद्यार्थियों से अपनी औलाद की तरह प्यार करते थे। वे बच्चों की पढ़ाई के मामले में उनके घरों तक जाते, माता पिता से मिलते और उन्हें बच्चों के रोजाने के शिक्षण मामलों के संबंध में संतुष्ट करते थे। मिस्री छात्रों ने अपने प्रिय शिक्षक की सेवाओं को सराहते हुए कहा कि वह एक प्यार करने वाले आध्यात्मिक पिता से वंचित हो गए हैं।

Top Stories