Monday , December 18 2017

प्लस टू स्कूलों में बहाल होंगे 52 हजार असातिज़ा

प्लस टू स्कूलों में इस साल 52 हजार असातिज़ा की तकर्रुरी होगी। इसकी अमल शुरू हो गयी है, जबकि इब्तेदाई स्कूलों में करीब एक लाख इजाफ़ी असातिज़ा तालीम और अनुदेशक की टकर्रूरी किया जायेगा। यह कहना है तालीम वज़ीर पीके शाही का। उन्होंने बताया

प्लस टू स्कूलों में इस साल 52 हजार असातिज़ा की तकर्रुरी होगी। इसकी अमल शुरू हो गयी है, जबकि इब्तेदाई स्कूलों में करीब एक लाख इजाफ़ी असातिज़ा तालीम और अनुदेशक की टकर्रूरी किया जायेगा। यह कहना है तालीम वज़ीर पीके शाही का। उन्होंने बताया कि फिलहाल 41 हजार इब्तेदाई स्कूलों में असातिज़ा की तकर्रुरी हो चुकी है, जबकि एक लाख 17 हजार ओहदे अभी भी खाली हैं। इन स्कूलों में तकर्रुरी में हो रही देरी के लिए तालीम महकमा असातिज़ा तकर्रुरी दस्तूरुल अमल में तर्मिम करने जा रही है। इसी महीने कैबिनेट से तर्मिम दस्तूरुल अमल को पास करवा लिया जायेगा, ताकि खाली ओहदों पर कैंप लगा कर तकर्रुरी लेटर बांटा जा सके। साथ ही टीइटी इम्तेहान में कामयाब तालिबे इल्म को तक्ररूरी में मौका मिल सके। वहीं, मिडिल स्कूलों में 17583 में से 8452 असातिज़ा की तक्ररूरी हुई है।

50 हजार तालिबे इल्म को मिलेगी ट्रेनिंग

प्रेस कॉन्फ्रेंस में तालीम महकमा के प्रिन्सिपल सेक्रेटरी अमरजीत सिन्हा ने बताया कि नौवीं क्लास की हर तालिबे इल्म को 53 सौ रुपये (साइकिल- 2500, पोशाक- 1000 और स्कोलरशिप-1800) दिये जा रहा हैं। 52 कॉलेजों में इ-लाइब्रेरी 15 फरवरी तक खुल जायेगी। 40 लैंग्वेज लैब भी कायम किये जायेंगे। हुनर-4 में पचास हजार तालिबे इल्म को ट्रेनिंग देने का हदफ़ था, लेकिन इसके लिए 86 हजार लीगल दरख्वास्त आये हैं।

इनकी ट्रेनिंग 20 जनवरी से होगी। इसके लिए 75 एनजीओ का इंतिख़ाब किया गया है। इग्नू से ट्रेनिंग लेने वाले 34 हजार असातिज़ा को भी मंजूरी मिल गयी है, जबकि 64 हजार असातिज़ा को तरबियत किया जा रहा है। अमरजीत सिन्हा ने कहा कि महकमा का हदफ़ है कि साल 2016-17 तक सूबे में गैर तरबियत असातिज़ा न रहें। वज़ीर ने कहा कि बेहतर तौर से मिड डेय मिल मंसूबा चलाने में बिहार मुल्क के पांच रियासतों में शामिल हो गया है। पटना में मिड डे मील में चूहा मिलने के बाद मिड डे मिल बनाने वाली एजेंसी का लाइसेंस मंसूख कर दिया गया है। जल्द ही पटना में फिर से स्कूलों में मिड डे मील बांटी जायेगी।

TOPPOPULARRECENT