Friday , December 15 2017

फतुहा में पकड़ाई मिनी गन फैक्ट्री

पटना 5 मई : फतुहा थाने के बरेयां कला गांव में किराये के मकान में चल रही मिनी गन फैक्ट्री का पुलिस ने परदाफाश किया है। पुलिस ने वहां से तीन राइफल, एक पिस्टल, एक एयर राइफल,26 थर्टी जीरो सिक्स का कारतूस,छह सेवन प्वायंट सिक्स फाइव का कारतूस,

पटना 5 मई : फतुहा थाने के बरेयां कला गांव में किराये के मकान में चल रही मिनी गन फैक्ट्री का पुलिस ने परदाफाश किया है। पुलिस ने वहां से तीन राइफल, एक पिस्टल, एक एयर राइफल,26 थर्टी जीरो सिक्स का कारतूस,छह सेवन प्वायंट सिक्स फाइव का कारतूस, 10 प्वायंट टू-टू का कारतूस, छह हथियारों का आधा बना बैरल, लेथ मशीन, राइफल की अजाफी मैगजीन, राइफल का आधा बना वोल्ट, राइफल की आधा बना लोहा की बॉडी बरामद की है। पुलिस ने इस मामले में अवनीश को हिरासत में लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। हालांकि, मिनी गन फैक्टरी का संचालक टिपु सिंह उर्फ टिपु सुलतान फरार होने में कामयाब रहा।

आधा किमी पैदल चलने के बाद मिली कामयाबी : इस मामले का उजागर करने में पुलिस के भी पसीने छूट गये। पुलिस टीम किसी तरह फतुहा के बरेयां कला गांव के आधा किलोमीटर पहले तक ही पहुंच पायी। वहां से रात में अपने हथियार के साथ पैदल चलने के बाद टीपू सुलतान के घर तक पहुंची। वहां पहुंचने पर पुलिस ने सारे कमरों को खंगाला और हथियारों के जखीरा को बरामद किया।

नेपाल के माओवादी भी थे खरीदार : इन हथियारों की सप्लाइ टीपू सुलतान नेपाल के माओवादियों तक करता था। एक राइफल की कीमत 10 से 20 हजार रुपये के बीच थी। एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि यहां से बने हथियारों की सप्लाइ पटना के मुकामी मुजरिम गिरोहों के अलावा नेपाल के माओवादियों को भी की जाती थी।

TOPPOPULARRECENT