Tuesday , February 20 2018

फर्जी आईएएस बनकर अकादमी में रहने वाली खातून गिरफ्तार

देहरादून: उत्तराखंड के मसूरी में वाके लाल बहादुर शास्त्री इंतेज़ामी अकादमी में अपने आपको आईएएस प्रोफेश्नर बताकर रहने वाली खातून को गिरफ्तार कर लिया गया। एक आला आफीसर पर घूस लेने के इल्ज़ाम लगाने वाली इस खातून के खिलाफ धोखाधड़ी, ज

देहरादून: उत्तराखंड के मसूरी में वाके लाल बहादुर शास्त्री इंतेज़ामी अकादमी में अपने आपको आईएएस प्रोफेश्नर बताकर रहने वाली खातून को गिरफ्तार कर लिया गया। एक आला आफीसर पर घूस लेने के इल्ज़ाम लगाने वाली इस खातून के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी और एक सरकारी मुलाज़िम के तौर पर फर्जी तरीके से काम करने का मामला दर्ज किया गया है। आपको बता दें कि पिछले छह महीनों से ये युवती आईएएस ट्रेनिंग अकादमी में फर्जी आईडी के साथ रह रहीं थी।

वहीं फर्जी आईएएस बनकर रहने का मामला सामने आने के बाद मरकज़ ने मामले को लापरवाही मानते हुए अकादमी के डिप्टी डायरेक्टर सौरभी जैन से इस मामले में वजाहत मांगने का फैसला किया था। फर्जी आईएएस आफीसर बनने वाली उत्तर प्रदेश की रूबी चौधरी ने जैन पर इल्ज़ाम लगाया था कि उन्होंने उससे पैसे लेकर फर्जी शनाख्ती कार्ड जारी किया था ताकि वह आसानी से अकादमी में दाखिला ले सके।

रूबी का दावा है कि डिप्टी डायरेक्टर ने उससे पांच लाख रूपए बतौर रिश्वत लिए थे। यही नहीं, वह अकादमी के सदर से भी मिली थी। वहीं, उत्तराखंड के पुलिस जनरल बी एस सिद्धू ने मामले के सामने आने के फौरन बाद मुताल्लिक थाने को एफआईआर दर्ज करने के हुक्म दिए थे। हालांकि, सिद्धू ने कहा था कि रूबी को गिरफ्तार करने के लिए फिलहाल मुनासिब सबूत नहीं हैं।

उत्तराखंड के वज़ीर ए आला हरीश रावत ने इस मामले में कहा था कि अकादमी के डायरेक्टर से बात करने के बाद ही मैं इस मामले में कुछ कह पाउंगा। खातून ढोंगी है। सारी बात जानने के बाद ही मैं उसके बारे में कुछ कह पाउंगा।

TOPPOPULARRECENT