Monday , December 18 2017

फर्जी एनकाउंटर केस में सरकारी गवाह बन सकते हैं वंजारा

फर्जी एनकाउंटर के मामले में जेल में बंद गुजरात पुलिस के आफीसर डीआईजी डीजी वंजारा से पूछताछ में सबीआई को हरेन पंड्या के कत्ल के मामले में सुराग हाथ लगे हैं। इसके साथ ही ज़राए के हवाले से कहा जा रहा है कि फर्जी एनकाउंटर के एक मामले मे

फर्जी एनकाउंटर के मामले में जेल में बंद गुजरात पुलिस के आफीसर डीआईजी डीजी वंजारा से पूछताछ में सबीआई को हरेन पंड्या के कत्ल के मामले में सुराग हाथ लगे हैं। इसके साथ ही ज़राए के हवाले से कहा जा रहा है कि फर्जी एनकाउंटर के एक मामले में वंजारा सरकारी गवाह बन सकते हैं।

ज़राए का कहना है कि वंजारा ने जुमे के दिन सीबीआई की टीम को बताया कि रियासत के साबिक वज़ीर ए दाखिला पंड्या के कत्ल के पीछे सियासी साजिश थी। बताया जा रहा है कि वंजारा ने पंड्या के मर्डर में सोहराबुद्दीन के किरदार के बारे में भी जानकारी दी है।

हालांकि, इस बात के इम्कान कम है कि सीबीआई अपनी तरफ से पहले की जा चुकी जांच पंड्या मर्डर केस की फाइल फिर खोले। पंड्या मर्डर केस में सभी मुल्ज़िमो को गुजरात हाई कोर्ट ने बरी कर दिया था। सीबीआई ने मुल्ज़िमो को बरी किए जाने को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। पंड्या का खानदान शुरू से ही कहता रहा है कि इस कत्ल के पीछे सियासी साजिश है।

गौरतलब है कि हाल ही में वंजारा ने पिछले दिनों बीजेपी जनरल सेक्रेटरी अमित शाह और गुजरात के वज़ीर ए आला नरेंद्र मोदी को लेकर नाराजगी जताते हुए एक खत के जरिए अपना इस्तीफा भेजा था। हालांकि, उनके खिलाफ जांच जारी होने की वजह से रियासती हुकूमत ने उनका इस्तीफा नहीं कुबूल किया था। इस खत के सामने आने के बाद जुमे के दिनसीबीआई की टीम ने साबरमती जेल में चार घंटे तक उनसे पूछताछ की।

ज़राए का कहना है कि सोहराबुद्दीन शेख, कौसर बी, तुलसीराम प्रजापति और इशरत जहां एनकाउंटर केस के मुल्ज़िम वंजारा सादिक जमाल एनकाउंटर केस में सरकारी गवाह बन सकते हैं।

——बशुक्रिया: नवभारत टाइम्स

TOPPOPULARRECENT