Monday , September 24 2018

फर्जी खबर चलाने वाले पत्रकारों की मान्यता होगी रद्द- केंद्र सरकार

सरकार ने फर्जी खबर पर लगाम लगाने के लिए प्रिंट और इलेक्ट्रोनिक मीडिया के लिए सोमवार को संशोधित दिशा निर्देश जारी किया। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने संशोधित दिशा निर्देश जारी करते हुए कहा कि अगर फर्जी खबर के प्रकाशन या प्रसारण की पुष्टि होती है, तो पहली बार ऐसा करते पाए जाने पर पत्रकार की मान्यता छह महीने के लिए निलंबित की जाएगी और दूसरी बार ऐसा करते पाए जाने पर उसकी मान्यता एक साल के लिए निलंबित की जाएगी।

तीसरी बार उल्लंघन करते पाए जाने पर पत्रकार की मान्यता स्थायी रूप से रद्द कर दी जाएगी। फर्जी खबर की जांच प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया (पीसीआई) और न्यूज ब्रॉडकास्टर्स असोसिएशन (एनबीए) द्वारा की जाएगी। प्रिंट मीडिया से संबंधित मामलों की जांच पीसीआई और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की जांच एनबीए करेगी।

मंत्रालय ने कहा कि इन एजेंसियों को 15 दिन के अंदर खबर के फर्जी होने का निर्धारण करना होगा। सरकार ने कहा कि पत्रकारों को इन दिशा-निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होगा।

TOPPOPULARRECENT