Saturday , December 16 2017

फर्जी डिग्री पर नौकरी कर रहे 1085 असातिज़ा

जब सर्टिफिकेट ही फर्जी हो, तो उस टीचर से क्या उम्मीद की जा सकती है। आठ सालों से रियासत के सरकारी स्कूलों में कई ऐसे टीचर बच्चों को पढ़ा रहे हैं, जिनकी डिग्री फर्जी है। तालीम महकमा ने ऐसे टीचरों की डिग्री की जांच जब मुतल्लिक़ यूनिवर्स

जब सर्टिफिकेट ही फर्जी हो, तो उस टीचर से क्या उम्मीद की जा सकती है। आठ सालों से रियासत के सरकारी स्कूलों में कई ऐसे टीचर बच्चों को पढ़ा रहे हैं, जिनकी डिग्री फर्जी है। तालीम महकमा ने ऐसे टीचरों की डिग्री की जांच जब मुतल्लिक़ यूनिवर्सिटी से करवायी, तो इसका पता चला।

शुरुआत में तो लगा कि एक-दो टीचर ही फर्जी होंगे, लेकिन जब जांच अमल बढ़ायी गयी, तो इनकी तादाद मुसलसल बढ़ती जा रही है। अब तक 1085 टीचर ऐसे मिले हैं, जो फर्जी डिग्री पर प्राइमरी और मिडिल स्कूलों में पढ़ा रहे हैं। इन असातिज़ा को महकमा ने हटाने की हुक्म भी दिया है, लेकिन अब भी वे अपने ओहदे पर बने हुए हैं। तालीम महकमा अब इन असातिज़ा के खिलाफ एफआइआर दर्ज करवाने जा रहा है। चूंकि फर्जी असातिज़ा की तादाद में मुसलसल इजाफा हो रही है, इसलिए मुसलसल इसकी जांच भी करायी जा रही है।

कांट्रेक्ट हुई थी तकर्रुरी

कांट्रैक्ट पर 2006 से असातिज़ा की तकर्रुरी की अमल शुरू हुई। इसमें बिना किसी इम्तिहान के सर्टिफिकेट के जरिये असातिज़ा की तकर्रुरी की गयी। तंख्वाह 6000 से लेकर 10000 तक था। अब तक एक लाख 42 हजार असातिज़ा की तकर्रुरी की जा चुकी है। नियम यह था कि तकर्रुरी के छह माह बाद असातिज़ा की जांच करवायी जायेगी।

बाहर के कॉलेजों की डिग्री मिली फर्जी

इस तकर्रुरी की अमल में असातिज़ा ने जिन कॉलेजों की डिग्री का इस्तेमाल किया है, उनमें से ज़्यादातर यूपी, मगरीबी बंगाल, गुवाहाटी और असम के कॉलेज हैं। उम्मीदवारों ने इन रियासतों के कॉलेजों के फर्जी सर्टिफिकेट बनवा लिये। जब तालीम महकमा ने तसदीक़ के लिए उनके सर्टिफिकेट को मुतल्लिक़ कॉलेजों में भेजा, तो हर तरफ से फर्जी डिग्री की रिपोर्ट आयी।

अभी हम 2006-07 के असातिज़ा की तकर्रुरी को लेकर ही जांच कर रहे हैं। इसमें हर जिले से मामले आ रहे हैं। तमाम असातिज़ा के सर्टिफिकेट की जांच में फर्जी सर्टिफिकेट की बात निकल कर सामने आ रही है। पहले मरहले के बाद फिर दूसरे मरहले की जांच होगी। इसके बाद असातिज़ा को हटाने का काम किया जायेगा।
आरएस सिंह, मुश्तरका डाइरेक्टर शरीक तर्जुमान, तालीम महकमा

इन यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के मिले फर्जी सर्टिफिकेट
पंडित रविशंकर शुक्ल यूनिवर्सिटी, रायपुर : 58

लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा यूनिवर्सिटी, ग्वालियर : 24

गुवाहाटी यूनिवर्सिटी : 100

गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी,अमृतसर : 3

एससीइआरटी गुवाहाटी : 40

स्टेट बोर्ड ऑफ टीचर एजुकेशन, असम : 67

स्टेट काउंसिल ऑफ एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग, गुवाहाटी : 155

एसइआरटी असम : 300

TOPPOPULARRECENT