Tuesday , December 12 2017

फर्जी वोटर कार्ड रखने में मध्य प्रदेश है नंबर वन

मध्य प्रदेश के इंदौर में 4.5 लाख फर्जी वोट बनने का मामला सामने आया है। निर्वाचन आयोग की रिपोर्ट की मानें तो इंदौर में 4.5 लाख वोटर आईडी ऐसे हैं जिनके फोटो एक जैसे हैं। आप जानकर हैरान हो जाएंगे कि देशभर में ऐसे 15 लाख फर्जी वोट पकड़े गए हैं जिनमें से करीब 5 लाख इंदौर में ही हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

सूत्रों की माने तो आयोग ने एक खास सॉफ्टवेयर बनवाया है। इस सॉफ्टवेयर के जरिए जब देशभर के वोटर कार्ड के फोटो स्कैन किए गए तो उनमें से 15 लाख से ज्यादा मतदाताओं के फोटो एक जैसे निकले, जिसमें से साढ़े चार लाख सिर्फ इंदौर में ही हैं।
इस खुलासे के बाद तीन दिन पहले निर्वाचन आयोग ने जिले के निर्वाचन और सहायक निर्वाचन अधिकारियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जांच के आदेश दिए। इसके बाद जांच शुरू भी कर दी गई है।
बताया जा रहा है कि इन एक जैसे चेहरों वालों की सूची सभी 9 विधानसभा क्षेत्रों के प्रभारी अधिकारियों को भेज दी गई है, जिसमें से अब उन्हें एक-एक वोटर कार्ड छांटते हुए जांच करनी है, यदि सच में एक जैसे चेहरे पाए जाते हैं तो उन्हें ऑनलाइन चिन्हित किया जाएगा और फिर फिल्ड वेरिफिकेशन भी कराया जाएगा।
अधिकारियों की मानें तो कई मतदाताओं के एक से अधिक केंद्रों के वोटर आईडी बनें हुए हैं। ऐसे में आयोग इन मतदाताओं को चिन्हित करने के बाद उनसे पूछेगा कि वो कहां की मतदाता सूची में रहना चाहते हैं। इस आधार पर कार्ड को एक मतदाता सूची में मान्य कर बाकी जगहों से उसका नाम खारिज कर दिया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT