फलस्तीनियों की लड़ाई में पीछे क्यों हट रहा है क़तर?

फलस्तीनियों की लड़ाई में पीछे क्यों हट रहा है क़तर?

क़तर ने घोषणा की है कि वह इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन हमास के कर्मियों के वेतन अदा करने के लिए और अधिक फ़ंड्ज़ नहीं दिए जाएंगे किन्तु साथ ही यह घोषणा की है कि उनकी ओर से फ़िलिस्तीन की निर्धन जनता की सहायता जारी रहेगी।

ज्ञात रहे कि क़तर की यह घोषणा, वेतनों की अदाएगी से संबंधित हमास की ओर से संदिग्ध रूप से इस्राईली शर्त मानने से इनकार करने के कारण सामने आई है।

paestoday.com एएफ़पी के अनुसार ग़ज़्ज़ा के लिए क़तर के राजदूत मुहम्मद अलएमादी ने कहा कि हम हमास के कर्मियों को वेतन अदा नहीं करेंगे।

ज्ञात रहे कि पिछले नवम्बर में ज़ायोनी शासन और हमास के बीच होने वाले अनाधिकारिक समझौते में देखा जा रहा था कि क़तर ने अगले महीने के छह महीने के लिए ग़ज़्ज़ा में मासिक अदाएगियों के लिए 9 करोड़ डॉलर भेजवाने का विश्वास दिलाया है, यह स्थिति मार्च 2018 से हमास की ओर से समझौते के कारण ख़राब हो गयी थी।

हमास के 40 हज़ार कर्मियों के वेतन की अदाएगी के लिए क़तर ने पहले दो महीने 1 करोड़ 50 लाख डॉलर अदा किए थे किन्तु तीसरे महीने रक़म रोक दी है।

Top Stories