Wednesday , September 26 2018

फलस्‍तीनीयों पर जुल्म खत्म हो, इजरायल को अपनी फौजें गाज़ा बॉर्डर से हटाना होगा- दक्षिण अफ्रीका

साउथ अफ्रीका की सरकार ने बुधवार को गाज़ा पट्टी में इज़राइली सशस्त्र बलों द्वारा किए गए हिंसा की नवीनतम घटनाओं की निंदा की. इजराइली सैनिकों ने 17 फिलिस्तीनियों की जान ले ली, जबकि 1500 फिलिस्तीनियों को गंभीर रूप से घायल कर दिया. मिडिल ईस्ट मॉनिटर के मुताबिक, एक बयान में साउथ अफ्रीका की विदेश मंत्री लिंडई सिसुलू ने कहा कि इजरायल के सशस्त्र बलों की मिडिल ईस्ट शांति प्रक्रिया को भंग कर रहें है. खत्म किया जाए बेगुनाह फिलिस्तीनियों पर ज़ुल्म साउथ अफ्रीका की विदेश मंत्री ने कहा कि, “दक्षिण अफ्रीका ने इस विचार को दोहराया है कि इजरायली सैनिकों को गाज़ा बॉर्डर से हटना होगा और फिलीस्तीनियों के क्षेत्रों में हिंसक और विनाशकारी घुसपैठ को खत्म करना होगा.” पिछले हफ्ते, इजरायल की सेना ने 17 बेगुनाह फिलीस्तीनियों को मौत के घाट उतार दिया और कई अन्य घायल हो गए क्योंकि फ़िलिस्तीनी शरणार्थियों के अपने गांवों में लौटने का अधिकार मांगते हुए कहा था कि वह 70 साल पहले इजरायल ने जबरन बाहर निकाल दिया था. फिलिस्तीनियों की मौत की हो जांच दक्षिण अफ्रीकी सरकार ने फिलिस्तीनियों की मौतों की स्वतंत्र जांच पड़ताल के लिए भी कहा है. मिडिल ईस्ट मॉनिटर के मुताबिक, बयान में कहा गया है कि, “दक्षिण अफ्रीका संयुक्त राष्ट्र के उन सदस्यों के साथ संलिप्त है, जो फिलिस्तिनियों हत्याओं में स्वतंत्र जांच के लिए यूनाइटेड नेशन से आग्रह किया. साथ ही यह कहा कि, जो फिलिस्तीनियों की मौत के ज़िम्मेदार है उनके खिलाफ कार्यवाही की जाए.
TOPPOPULARRECENT