Sunday , December 17 2017

फ़लस्तीन की ताईद, ईरान की बुनियादी पालिसी

तहरान 5/ अक्टूबर (एजैंसीज़) ईरानी पार्लीमैंट के स्पीकर अली लारी जानी ने कहा कि फ़लस्तीन की हिमायत करना ईरान की बुनियादी पालिसी है। लारी जानी ने हम्मास सयासी बयो रो के चेयरमैन ख़ालिद मशाल से मुलाक़ात की जिन्हों ने 15 वीं आलमी मुवाफ़िक़ फ

तहरान 5/ अक्टूबर (एजैंसीज़) ईरानी पार्लीमैंट के स्पीकर अली लारी जानी ने कहा कि फ़लस्तीन की हिमायत करना ईरान की बुनियादी पालिसी है। लारी जानी ने हम्मास सयासी बयो रो के चेयरमैन ख़ालिद मशाल से मुलाक़ात की जिन्हों ने 15 वीं आलमी मुवाफ़िक़ फ़लस्तीन कान्फ़्रैंस में शिरकत की थी। इस मुलाक़ात में लारी जानी ने फ़लस्तीनी अतनफ़ाज़ा कान्फ़्रैंस में फ़लस्तीन के मुख़्तलिफ़ ग्रुपस की जानिब से शिरकत और दीगर ममालिक के सयासी , सक़ाफ़्ती और साईंसी मंदूबीन की आमदनी सताइश की और कहा कि फ़लस्तीनी क़ाज़ की हिमायत यहूदी जारिहाना पालिसीयों के ख़िलाफ़ उन की मुज़ाहमत को हौसला बढ़ाती है। ईरान की भी ये बुनियादी पालिसी है कि वो फ़लस्तीनीयों की मदद करें। उन्होंने मज़ीद कहा कि फ़लस्तीनीयों को यहूदी ममलकत के ख़िलाफ़ उन की मुज़ाहमत में क़ुव्वत अता की जाय तो इस से हौसले बुलंद होंगे और बैरूनी दुश्मनों के नापाक मंसूबों को नाकाम बनाने में मदद मिलेगी। ख़ालिद शाल ने अपने हिस्सा के तौर पर ईरान की जानिब से मुवाफ़िक़ फ़लस्तीनी कान्फ़्रैंस के इनइक़ाद का ख़ौरमक़दम किया और कहा कि इस नाज़ुक सूरत-ए-हाल में फ़लस्तीनीयों के लिए इस तरह का क़दम उठाना ईरान का बहुत बड़ा कारनामा है। फ़लस्तीनीयों की मदद भी ग़ैरमामूली एहमीयत रखती है। हम्मास सयासी बयो रो के चेयरमैन ने मज़ीद कहाकि ईरान ने हमेशा फ़लस्तीनी मसला से मुताल्लिक़ एक मंतक़ी और बुनियादी मौक़िफ़ रखता है।

TOPPOPULARRECENT