Friday , December 15 2017

फ़िल्मी अंदाज़ में सिर्फ़ 30 सेकेण्ड पहले फांसी टल गई

लाहौर की कोट लखपत जेल में सज़ाए मौत के क़ैदी इकरामुल हक़ उर्फ़ लाहौरी को नई ज़िंदगी तख़्तादार पर ले जाने से सिर्फ़ तीस सेकेण्ड पहले मिली जब बिलकुल फ़िल्मी अंदाज़ में मुजरिम को मुद्दई मुक़द्दमा ने माफ़ कर दिया।

लाहौर की कोट लखपत जेल में सज़ाए मौत के क़ैदी इकरामुल हक़ उर्फ़ लाहौरी को नई ज़िंदगी तख़्तादार पर ले जाने से सिर्फ़ तीस सेकेण्ड पहले मिली जब बिलकुल फ़िल्मी अंदाज़ में मुजरिम को मुद्दई मुक़द्दमा ने माफ़ कर दिया।

लाहौर की कोट लखपत जेल में क़ैद इकरुमुल हक़ उर्फ़ लाहौरी फ़िर्कावाराना क़त्ल का मुजरिम था। 2001 में उस ने शोरकोट के इलाक़े में एक शख़्स को क़त्ल किया था। फैसलाबाद की इन्सिदादे दहशतगर्दी अदालत ने मौत की सज़ा सुनाई।

इकरामुल हक़ को आज फांसी दी जानी थी ताहम रात गए मुक़द्दमे के फ़रीक़ैन में सुलह हो गई। ब्यान हल्फ़ी जमा कराए जाने पर फ़्रस्ट क्लास मजिस्ट्रेट ने फांसी पर अमल दरामद रोकने का हुक्म दे दिया।

TOPPOPULARRECENT