Thursday , December 14 2017

फ़ौजी हमलों में टैंकों और हेली हेलीकाप्टर के इस्तिमाल की हुकूमत शाम की तरदीद

शामी हुकूमत ने इतवार के हमला में अपनी अफ़्वाज की जानिब से टैंकों और हेली कापटरज़ के इस्तिमाल की तरदीद की है और कहा है कि वसती गावं में जो कुछ हुआ वो बाग़ीयों से झड़पों का नतीजा था और ये क़तल-ए-आम नहीं था।

शामी हुकूमत ने इतवार के हमला में अपनी अफ़्वाज की जानिब से टैंकों और हेली कापटरज़ के इस्तिमाल की तरदीद की है और कहा है कि वसती गावं में जो कुछ हुआ वो बाग़ीयों से झड़पों का नतीजा था और ये क़तल-ए-आम नहीं था।

वज़ारत-ए-ख़ारजा के तर्जुमान जिहाद मक़देसी ने दमिशक़ में न्यूज़ कान्फ़्रैंस को बताया कि हुकूमती अफ़्वाज ने हेलीकाप्टर और टैंक इस्तिमाल नहीं किए और जो कुछ रौनुमा हुआ वो फ़ौज की जानिब से मासूम शहरियों पर हमला नहीं था।

न्यूज़ कान्फ़्रैंस का मक़सद अवाम को ये बताना है कि जो कुछ हुआ वो क़तल-ए-आम नहीं था,ये बाक़ायदा अफ़्वाज और मुसल्लह ग्रुपों के दरमियान झड़प थी,जो पुरअमन हल पर यक़ीन नहीं रखते। तर्जुमान ने कहा कि ये एक सयासी और फ़ौजी हक़ीक़त है।

TOPPOPULARRECENT