Saturday , December 16 2017

फिनान्स ओहदेदारों की रिपोर्ट्स में ताख़ीर से रुकावट

हैदराबाद 26 फरवरी (सियासत न्यूज़) अकलीयती फिनान्स कारपोरेशन के स्क़ाम की तहकीकात के सिलसिला में ऑडिटर्स और फिनान्स के ओहदेदारों की रिपोर्ट्स की पेशकशी में ताख़ीर के सबब रुकावट हो रही है। हुकूमत ने इन दोनों टीमों पर ज़ोर दिया है

हैदराबाद 26 फरवरी (सियासत न्यूज़) अकलीयती फिनान्स कारपोरेशन के स्क़ाम की तहकीकात के सिलसिला में ऑडिटर्स और फिनान्स के ओहदेदारों की रिपोर्ट्स की पेशकशी में ताख़ीर के सबब रुकावट हो रही है। हुकूमत ने इन दोनों टीमों पर ज़ोर दिया है कि वो जल्द से जल्द अपनी क़तई रिपोर्ट तहक़ीक़ाती कमेटी के हवाले कर दे जिस की निगरानी जोइंट सेक्रेट्री महकमा अकलीयती बहबूद कर रही है।

हुकूमत ने स्क़ाम की तहकीकात के लिए सी बी सी आई डी के साथ महकमाजाती तहकीकात का एलान किया है। ऑडिटर्स ने अपनी उबूरी रिपोर्ट पेश की है ताहम इस ने क़तई रिपोर्ट अभी तक दाख़िल नहीं की।

उबूरी रिपोर्ट में फिनान्स कारपोरेशन के ओहदेदारों की जानिब से मुख़्तलिफ़ बैंकों में रक़ूमात डिपाज़िट करने के सिलसिला में की गई बेक़ाईदगियों की निशानदेही की गई। उनहोंने ने कहा कि इस स्क़ाम के सिलसिले में बैंकों के ओहदेदार अपनी ज़िम्मेदारी से बच नहीं सकते।

उन्हों ने कहा कि आइन्दा इस तरह की बेक़ाईदगियों को रोकने कारपोरेशन के बैंक खातों और रक़ूमात को महदूद बैंकों तक यकजा किया जा रहा है ताकि रक़ूमात की इजराई और डिपॉजिट्स पर नज़र रखी जा सके।
उन्हों ने बताया कि कारपोरेशन के डिपॉजिट्स सिर्फ़ उन्ही बैंकों में रखे जा रहे हैं जहां से कारपोरेशन की स्कीमात पर अमल आवरी की जा रही है।

TOPPOPULARRECENT