Monday , September 24 2018

फिर भड़के आडवाणी, कहा मन करता है कि दे दूं इस्तीफा

नई दिल्ली: गुरुवार संसद के दोनों सदन, राज्यसभा और लोकसभा नोटबंदी को लेकर हंगामे की भेंट चढ़ गए. जिसपर भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी भड़क गए और अपनी गुस्सा व्यक्त करते हुए कहा कि मेरा मन करता है कि इस्तीफा दे दूं.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

एनडीटीवी के अनुसार, संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही के बाधित होने को लेकर पूर्व उपप्रधानमंत्री ने एक बार फिर गुस्से का इज़हार करते हुए कहा यदि शुक्रवार को लोकसभा नोटबंदी के मुद्दे पर चर्चा किए बिना अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गई तो संसद हार जाएगी और हम सबकी बहुत बड़ी बदनामी होगी. यही नहीं, उन्होंने यहां तक कह डाला कि मन करता है इस्तीफा दे दें.

बता दें कि वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनने के बाद से ही अक्सर शांत रहने वाले लालकृष्ण आडवाणी पिछले लगभग 10 दिन में कई बार इस बात को लेकर नाराज़गी ज़ाहिर कर चुके हैं कि संसद में कोई कामकाज या चर्चा नहीं हो पा रही है. इससे पहले, 7 दिसंबर को भी उन्हें यह कहते सुना गया था कि स्पीकर या संसदीय कार्यमंत्री सदन को नहीं चला पा रहे हैं.

गौरतलब है कि संसद का शीतकालीन सत्र शुक्रवार को खत्म होने जा रही है. नोटबंदी के चलते राज्यसभा और लोकसभा में सत्र के दौरान हो रहे हंगामे से न सिर्फ देश की जनता दुखी हैं, बल्कि देश के सबसे वरिष्ठ नेता में से एक लालकृष्ण आडवाणी भी इससे काफी नाराज़ हैं, जो कि वह पिछले कुछ दिनों में कई बार ज़ाहिर कर चुके हैं.

TOPPOPULARRECENT