फिल्म सर्टिफिकेशन बोर्ड पर उठे सवाल, पद्मवती और फुकरे रिटर्न्स के लिए अलग-अलग नियम क्यों

फिल्म सर्टिफिकेशन बोर्ड पर उठे सवाल, पद्मवती और फुकरे रिटर्न्स के लिए अलग-अलग नियम क्यों
Click for full image

मुम्बई : फुकरे रिटर्न्स 8 दिसंबर को रिलीज हो रही है, इसे निर्देशक ने रिलीज के सिर्फ 12 दिन पहले सबमिट किया है. इस फिल्म को सर्टिफिकेट दे दिया गया है. सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (सीबीएफसी) ने पद्मावती के जुड़े विवाद में कहा था कि निर्देशक संजय लीला भंसाली को अपनी फिल्म रिलीज डेट के 68 दिन पहले सबमिट करनी चाहिए थी, लेकिन सीबीएफसी ने यह नियम फुकरे रिटर्न्स के लिए तोड़ दिया है.दोनों फिल्मों के लिए अलग अलग नियम बताए जाने से सीबीएफसी की भूमिका पर सवाल खड़े हो गए.

सीबीएफसी ने यह भी कहा था पद्मावती को सर्टिफिकेट इसलिए भी जारी नहीं किया गया, क्योंकि आवेदन अधूरा था. बता दें कि 68 दिन का नियम लंबे समय से है, लेकिन इसका सख्ती के साथ पालन नहीं किया जाता है, इसे अव्यवहारिक माना जाता है. सेंसर बोर्ड के सीईओ अनुराग श्रीवास्तव का कहना है कि कई नियम है, इन्हें इसलिए दरकिनार किया जाता है, क्योंकि कई बार निर्माता बोलते हैं कि हमें कल या परसों में फिल्म रिलीज करनी है.

बता दें कि करणी सेना के विरोध के बाद पद्मावती की रिलीज टल गई है. ये एक दिसंबर को रिलीज होनी थी. भारत में फिल्म को कोई सर्टिफिकेट नहीं मिला है, लेकिन लगातार बैन को लेकर घोषणाएं हो रही हैं.

Top Stories