Wednesday , December 13 2017

फेडरल फंट्र बनने से हवाबाज लोग बेचैन : नीतीश

बिहार के वजीरे आला नीतीश कुमार ने अगले लोकसभा इंतिख़ाब में राजग और संप्रग के ताश के पत्ते की तरह ढह जाने का दावा करते हुए आज कहा कि हमलोगों के फेडरल फंट्र बनाने से हवाबाज़ लोग बेचैन हो रहे हैं। बिहार को खुसुसि रियासत का दर्जा दिए जाने

बिहार के वजीरे आला नीतीश कुमार ने अगले लोकसभा इंतिख़ाब में राजग और संप्रग के ताश के पत्ते की तरह ढह जाने का दावा करते हुए आज कहा कि हमलोगों के फेडरल फंट्र बनाने से हवाबाज़ लोग बेचैन हो रहे हैं। बिहार को खुसुसि रियासत का दर्जा दिए जाने की मांग को लेकर जदयू की तरफ से आज सहरसा में मुनक्कीद रैली को खिताब करते हुए नीतीश ने कहा कि मुल्क में असली ऑप्शन के लिए मोर्चाबंदी शुरु हो गयी है। आगे की बात हो रही है। हमलोग रियासती मोर्चा बना रहे हैं।

उन्होंने कहा कि फेडरल फ्रंट बन रहा है जो असल ऑप्शन बनेगा। हवाबाज लोग बैचेन हो रहे हैं, राजग और संप्रग ताश के पत्ते की तरह ढह जाएंगे।
नीतीश ने भाजपा के वजीरे आजम ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी जिन्होंने इस फ्रंट को खारिज कर दिया है की तरफ निशाना साधते हुए कहा कि कोलकाता में कल भाजपा की रैली थी वहां भी परेशानी हो गयी और अभी फेडरल फंट्र बना नहीं कि घबराहट और बैचेनी शुरु हो गयी। उन्होंने कहा कि उनकी हवा नकली है और इमारत मजबूत नहीं है बादलों की पीठ पर इमारत बनाने की कोशिश हो रही है।

राजद सरबराह लालू प्रसाद पर निशाना साधते हुए नीतीश ने कहा कि एक हैं अफवाह वाले, जिनसे होशियार कर दिया और दूसरे हैं कानों-कान वाले जिनको लगा कि अगर बिहार को खुसुसि रियासत का दर्जा मिल जाएगा तो अनर्थ हो जाएगा और हमें क्रेडिट मिल जाएगा, लोगों ने रुकावट पैदा कर दिया।

कांग्रेस जेरे कियादत मर्कज़ की यूपीए हुकूमत पर हमला करते हुए नीतीश ने कहा कि दिल्ली में ऐसे लोग बैठे हुए हैं जिनकी आंख पर पट्टी बंधी है। बिहारवासियों की ख़्वाहिश और उनकी जरुरतों को नजर अंदाज किया जा रहा है। गरीब बोलते कम है, उनकी ताकत को लोग नजरअंदाज न करें।

जदयू के क़ौमी सदर शरद यादव ने भी “संकल्प रैली” को खिताब किया और यकीन जताया कि मर्कज़ में तीसरे मोर्चे की हुकूमत बनेगी। तकरीब की सदारत जदयू के रियासती सदर वशिष्ट नारायण सिंह ने किया।

TOPPOPULARRECENT