Friday , December 15 2017

फेसबुक पर मदरसा खैरूल ऊलुम की बदहाली देख अमेरिकी एनआरआई ने लिया गोद

पटना : कभी-कभी मसलों को सोशल साइट पर डालने से कब मसला का हल हो जायेगा। यह कोई सोच नहीं सकता है। कुछ ऐसा ही बिहार के किशनगंज जिले के बेलवा टेंगरमारी खेरु ऊलुम मदरसा और प्राइमरी स्कूल का हुआ है। इन दोनों स्कूल की हालत बहुत ही खराब थी। किसी ने स्कूल की फोटो फेसबुक पर डाल दिया। इसको जब अमेरिकी अहले खाना ने देखा तो उनसे रहा नहीं गया। अहले खाना ने इन दोनों स्कूलों की सूरत बदलने का फैसला ले लिया। खुद अहले खाना अमेरिका से किशनगंज के दोनों स्कूल में पहुंचे। अहले खाना ने इन दोनों स्कूल को गोद लेने का फैसला लिया है।
एनआरआई भारतीय कमलनाथ साहा और उनकी फिलीपीन की रहने वाली बीवी अरलिंडा ने किशनगंज के जिले के बेलवा टेंगरमारी खेरुल ऊलुम मदरसा और प्राइमरी स्कूल की बदहाल हाल को देखा। स्कूल और वहां के बच्चों की सुरते हाल देख वे काफी दुखी हुए। दोनों ने स्कूल के लिए कुछ करने का फैसला किया। अपने वतन आने पर दोनों किशनगंज पहुंचे और बेलवा टेंगरमारी खेरुल ऊलुम मदरसा और प्राइमरी स्कूल को गोद लेने की एलान की।

पीर को डीईओ मो. गयासुद्दीन और बीईओ शौकत अली के साथ एनआरआई अहले खाना मदरसा और प्राइमरी स्कूल पहुंचे तो गाँव वालों ने गर्मजोशी के साथ उनका इस्तकबाल किया। मदरसा अहाते और स्कूल में साहा खानदान ने बच्चों के खेलकूद के लिए सामान लगवाए। दोनों ने इसकी स्कूल को बेहतर बनाने की हर मुमकिन मदद की एलान की। साहा खानदान के आने से बच्चों में भी खुशी थी।

कमल नाथ साहा की फिलीपीन के रहने वाली बीवी मिसेज अरलिंडा ने कहा कि, भारतीय बहू होने की वजह से उनका भी फर्ज बनता है कि वह अपने शौहर के मुल्क की खिदमत में कदम से कदम मिलाकर चलें और खिदमत में मददगार बनें। डीईओ मो. गयासुद्दीन ने कहा कि यह काफी खुशी का वक़्त है। मुल्क के फी अमेरिका में रहने वालों का यह लगाव काबिले तारीफ है।

 

TOPPOPULARRECENT