फ्रांस के इस मुस्लिम खिलाड़ी ने थाइलैंड की गुफा से निकाले गए बच्चों को अपनी जीत को किया समर्पित!

फ्रांस के इस मुस्लिम खिलाड़ी ने थाइलैंड की गुफा से निकाले गए बच्चों को अपनी जीत को किया समर्पित!
Click for full image

बेल्जियम को सेमीफाइनल में 0-1 हराकर फ्रांस फीफा वर्ल्ड कप 2018 के फाइनल में पहुंच गया है। फ्रांस 12 साल बाद फीफा वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचा है। फ्रांस के फुटबॉल टीम के मीड फिल्डर पॉल पोगबा इस जीत को थाइलैंड की गुफा से निकाले गए बच्चों को समर्पित किया है।

उन्होंने ट्वीट कर गुफा से बाहर निकाले गए सभी 12 बच्चे और उनके कोर्च को बधाई दी है और इतने दिनों तक हिम्मत बनाए रखने के लिए हौसला अफजाई की है।

आपको बता दें कि मंगलवार देर रात 23 जून से थाईलैंड की थाम लुआंग गुफा में फंसे अंडर-16 फुटबॉल टीम के 12 खिलाड़ी और उनके कोच को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

थाईलैंड में चले इस बचाव अभियान को दुनिया का सबसे बड़ा बचाव अभियान बताया जा रहा है। इससे पहले सोमवार और रविवार को गुफा से 4-4 बच्चों को सुरक्षित निकाला गया था। इसके बाद बाकी बचे 5 सदस्यों को मंगलवार को बाहर निकलना गया।

ये बचाव कार्य युद्ध स्तर पर चलाया गया था। इस बचाव कार्य में 8 देशों के 13 गोताखोरों ने हिस्सा लिया और अपने मिशन को पूरा किया। कई रेस्क्यू ऑपरेशन के नाकाम रहने के बाद पानी से सराबोर और संकरी गुफा से बच्चों और कोच को निकालने के लिए गोताखोरों की मदद ली गई।

गौरतलब है कि फ्रांस 12 साल बाद फीफा वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचा है। फ्रांस ने सेमीफाइनल में बेल्जियम को 1-0 से हरा दिया। इस तरह बेल्जियम का फीफा वर्ल्ड कप 2018 का फाइनल खेलने का सपना टूट गया।

मैच के 51वें मिनट में सैमुअल उमटीटी ने गोलकर फ्रांस को फीफा वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचा दिया। इस तरह फ्रांस ने बेल्जियम को विश्व कप में लगातार तीसरी बार मात दी।

फ्रांस की टीम का फाइनल में मुकाबला इंग्लैंड और क्रोएशिया के बीच आज होने वाले दूसरे सेमीफाइनल की विजेता से होगा। फ्रांस के पास दूसरी बार विश्व कप चैंपियन बनने का मौका है। इससे पहले उसने घरेलू जमीन पर 1998 में विश्व कप जीता था।

Top Stories