Thursday , November 23 2017
Home / Islam / फ्रांस: नकाब पर लगे जुर्माने का भुगतान करता है रशीद, अब तक भर चूका है 1.7 करोड़ रूपये

फ्रांस: नकाब पर लगे जुर्माने का भुगतान करता है रशीद, अब तक भर चूका है 1.7 करोड़ रूपये

पैरिस: फ्रांस में अधिकारियों के अत्यधिक दबाव के बावजूद अल्जीरिया के राजनीतिक कार्यकर्ता और व्यापारी रशीद नकाज़ ने देश में नकाब पहनने वाली महिलाओं पर लगाया जर्मानों का भुगतान जारी रखा है। नकाब पहनने वाली महिलाओं के जुर्माने पर उन्होंने अब तक काफी रक़म खर्च किया है।
रशीद नकाज़ के अनुसार वह सोमवार को फ्रांस के पूर्वी क्षेत्र वोबाश का रुख करेंगे ताकि नकाब पहनने वाली महिलाओं द्वारा 1174 वां चालान भुगतान करें।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अल अरबिया के अनुसार, रशीद नकाज़ 2013 में फ्रेंच नागरिकता को त्याग दिया था. रशीद नकाज़ कुछ दिन पहले फ्रेंच में गृहमंत्री बर्नर कीज़नवो के चुनाव क्षेत्र में गए थे जहां उन्होंने नकाब पहनने वाली एक महिला का जुर्माना भुगतान किया। इस अवसर पर फ्रेंच मीडिया भी उनके साथ था ताकि रशीद नकाज़ से गृहमंत्री को चुनौती दिए जाने का दृश्य कैमरे में कैद किया जा सके.
रशीद नकाज़ पिछले रविवार तक कुल मिलाकर 1173 जर्मानों के चालान भर चुके हैं, जिनमें प्रत्येक चालान की कीमत 200 यूरो है। इस तरह वह अब तक नकाब पहनने वाली महिलाओं से जुर्माने की मद में 234600 यूरो (17089000 रु.) अदा कर चूका है। इनमें अधिकतर नाम, यूरोपीय नागरिकता रखने वाली फ्रेंच महिलाओं की है।
रशीद नकाज़ ने “फ्रांस टीवी” को दिए गए बयान में बताया कि “गृहमंत्री मुझे व्यक्तिगत रूप से निशाना बनाने के लिए मुश्किलें खड़ी करने का इरादा रखते हैं। इस उद्देश्य के लिए वह कानून में संशोधन करना चाहते हैं ताकि मैं 6 महीने के लिए जेल चला जाऊं, इसके अलावा मुझे 45 हजार यूरो का जुर्माना अदा करना पड़े। इस का कारण केवल यह है कि मैं नकाब लगाने वाली इन महिलाओं का जर्माना भुगतान करता हूँ, ताकि इस तरह के कपड़े पूरी आज़ादी से पहन सके।
उन्होंने कहा कि “मैं मानव अधिकारों के लिए दुनिया भर में अभियान चलाने वालों में से एक हूं और मेरे लिए यह संभव नहीं कि मैं उसे (नकाब पहनने पर प्रतिबंध) को स्वीकार कर लूं, और न मैं यह स्वीकार कर सकता हूँ कि सरकार इस्लामोफोबिया का शिकार होकर नागरिकों के एक विशेष वर्ग पर रोक लगाये। रशीद नकाज़ के अनुसार उन्होंने जुर्माने के भुगतान के लिए गृह मंत्री के शहर का रुख किया तो 11 पुलिस अधिकारियों ने उन्हें ट्रेन में सवार होने से रोक दिया। पुलिस ने उन्हें 11 घंटे तक रोके रखा और फिर रिहा किया।
फ्रेंच संसद में दक्षिणपंथी एक महिला सदस्य नादयन मोरानो ने पिछले शुक्रवार को अल्जीरिया व्यापारी रशीद नकाज़ को टोल शहर में नकाब पहने वाली महिला द्वारा जुर्माना भुगतान रोकने की कोशिश की।
मोरानो टेक्स प्राधिकरण के कार्यालय के दरवाजे पर खड़ी हो गईं, और रशीद नकाज़ को अंदर प्रवेश करने से रोकने की कोशिश की। इस दौरान उन्होंने कड़े शब्दों में रशीद को नस्लवादी करार दिया। मोरानो का कहना था कि ” तुम नकाब पर प्रतिबंध से संबंधित फ्रांसीसी कानून के खाई से लाभ उठा कर महिलाओं को कानून के उल्लंघन पर उकसाने का प्रयास कर रहे हो। इस पर रशीद ने कहा कि” मैं सिर्फ कानून को लागू कर रहा हूँ “।फ्रांस की ओर से जारी कानून के अनुसार, आम स्थानों पर नकाब या बुर्का पहनने वाली महिलाओं को वित्तीय जुर्माना अदा करना अनिवार्य है।

TOPPOPULARRECENT