फ्रेंच ओपनः सेरेना-शारापोवा आमने सामने

फ्रेंच ओपनः सेरेना-शारापोवा आमने सामने
पैरिस 7 जून- दो टॉप खिलाड़ियों सेरेना विलियम्स और मारिया शारापोवा के बीच हप्ते को फ्रेंच ओपन फाइनल खेला जाएगा। 1995 के बाद यह पहली बार है जब रोलां गैरां पर ख्वातीन का फाइनल दो टॉप खिलाड़ियों के बीच हुआ था जिसमें स्टेफी ग्राफ ने अरांत

पैरिस 7 जून- दो टॉप खिलाड़ियों सेरेना विलियम्स और मारिया शारापोवा के बीच हप्ते को फ्रेंच ओपन फाइनल खेला जाएगा। 1995 के बाद यह पहली बार है जब रोलां गैरां पर ख्वातीन का फाइनल दो टॉप खिलाड़ियों के बीच हुआ था जिसमें स्टेफी ग्राफ ने अरांता सांचेज विसारियो को हरा दिया था।

दोनों खिलाड़ियों ने सेमीफाइनल में अलग-अलग तरीकों से जीत दर्ज की, जहां सेरेना ने इटली की सारा ईरानी को महज 46 मिनट में 6-0, 6-1 से आसानी से हराया, वहीं पिछली चैंपियन शारापोवा ने दूसरा सेट गंवाने के बाद ऑस्ट्रेलियाई ओपन चैंपियन विक्टोरिया अजारेंका को कड़े मुकाबले में 6-1, 2-6, 6-4 से हरा दिया।

शारापोवा और सेरेना आपस में 15 बार आमने-सामने हो चुकी हैं, जिसमें अमेरिका स्टार 13-2 से आगे रही हैं। शारापोवा ने आखरी बार सेरेना को 2004 में सेशन के आखरी डब्ल्यूटीए चैंपियनशिप में 17 साल की उम्र में हराया था, तब से वह उसके खिलाफ जीत दर्ज नहीं कर पायी है।
जिस तरह से सेरेना ने ईरानी को हराया, उसे देखकर लगता है कि वह अपने 16वें ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने की दावेदार के रूप में शुरुआत करेगी। 31 साला अमेरिकी खिलाड़ी ने ईरानी के खिलाफ 40 नम्बर लगाये जबकि इटली की यह खिलाड़ी सेरेना की सर्व पर सिर्फ पांच नम्बर ही जीत सकी।

सेरेना ने 2002 में पैरिस में खिताब जीता था, जिसमें उन्होंने अपनी बहन वीनस को हराया था तब से वह पहली बार फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंची हैं। शारापोवा ने 11 डबल फॉल्ट करने के बावजूद अजारेंका को हराया। उन्होंने पिछले साल ईरानी को हराकर फ्रेंच ओपन का खिताब जीतकर करियर स्लैम पूरा किया था।

रूस की स्टार खिलाड़ी शारापोवा के प्रदर्शन में उतार चढ़ाव देखने को मिला। उनकी पहली सर्विस जानदार थी, जिससे उन्होंने 12 ऐस लगाए लेकिन दूसरी सर्विस में वह इस मुजाहिरे को बरकरार नहीं रख पाईं। इसके अलावा उसके मैदानी स्ट्रोक भी दमदार नहीं थे और जीत दर्ज करने के लिए उन्हें पांच मैच पॉइंट की जरूरत पड़ी।

शारापोवा ने शानदार शुरुआत करते हुए पहला सेट आसानी से जीत लिया लेकिन इसके बाद दूसरा सेट गंवा बैठी। दूसरा सेट खत्म होते ही बारिश आ गई और जब खेल दोबारा शुरू हुआ तो शारापोवा को सेट और मैच जीतने में कोई परेशानी नहीं हुई। दूसरी तरफ 2001 में जेनिफर कैप्रियाती के बाद एक ही साल में ऑस्ट्रेलियाई ओपन और फ्रेंच ओपन का खिताब जीतने वाली पहली खातून खिलाड़ी बनने के लिए चुनौती पेश कर रही अजारेंका की थोड़ी बदकिस्मती रहीं क्योंकि बारिश की वज्ह से उनकी लय टूट गई
……………..बशुक्रिया नवभारत ।

Top Stories