Monday , April 23 2018

फ्लोरिडा- भारतीय मूल की टीचर ने जान पर खेलकर बचाई कई बच्चों की जान

अमेरिका के फ्लोरिडा स्थित एक स्कूल में हुई फायरिंग के दौरान अपनी सूझ-बूझ से कई छात्रों की जान बचाने वाली भारतीय मूल की मैथ्स टीचर की खूब तारीफ हो रही है. इस गोलीबारी में 17 लोगों की जान चली गई थी.

द सन सेंटिनल की रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार की दोपहर जैसे ही दूसरी बार अलार्म बजा, तो शांति विश्वनाथन ने अपनी अल्जेब्रा क्लास में मौजूद छात्रों को हमलावर से बचाने के लिए उन्हें फर्श पर लिटा दिया और क्लासरूम की खिड़कियां-दरवाजे बंद कर दिए.

विश्वनाथन की उस क्लास में मौजूद छात्रों में से एक की मां डान जर्बो कहती हैं, ‘उन्होंने बेहद तेज़ी से सूझबूझ दिखाते हुए सभी बच्चों की जान बचाई.’

अखबार के मुताबिक, जब एक स्वाट टीम ने दरवाज़ा खोलने के लिए दस्तक दी, तो विश्वनाथन ने इसे बंदूकधारियों की चाल समझकर कोई भी खतरा मोल न लेते हुए दरवाज़ा नहीं खोला.


जर्बो ने पुलिस को विश्वनाथन के बारे में बताते हुए कहा कि उन्होंने दरवाज़े पर दस्तक देने वालों से कहा कि ‘या तो चाभी से खुद दरवाजा खोल लो या फिर दरवाजे को तोड़ डालो, मैं यह नहीं खोलने वाली.’

अखबार के हवाले से जर्बो के बेटे ब्रायन ने अपनी मां को बताया कि कुछ पुलिसकर्मी खिड़की से अंदर दाखिल हुए और हम सभी को सुरक्षित बाहर निकाल लिया.

बता दें कि वेलेंटाइन डे पर स्कूल के एक पूर्व छात्र निकोलस क्रूज़ (19 वर्ष) ने पार्कलैंड के स्टोनमेन डगलस हाई स्कूल में घुस कर अंधाधुंध फायरिंग कर दी थी. इसमें अब तक 17 छात्रों के मारे गए थे.

पुलिस ने हमलावर को गिरफ्तार कर लिया गया है, हालांकि उसने इन हत्याओं के पीछे अपना कोई भी मकसद जाहिर नहीं किया है.

पार्कलैंड फ्लोरिडा के ब्रोवार्ड काउंटी में स्थित है और इसकी कुल 2,600 की आबादी है, हालांकि मारे गए लोगों में से कोई भी भारतीय मूल के नहीं है.

TOPPOPULARRECENT