बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव, कई राज्यों में बारिश, ठंड बढ़ने के आसार!

बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव, कई राज्यों में बारिश, ठंड बढ़ने के आसार!
Click for full image

अक्टूबर के जाते-जाते मौसम भी करवट बदल रहा है। पूरी तरह से ठंड आने से पहले एक बार फिर से भारी बारिश का अनुमान जताया गया है। बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव की स्थिति बन रही है। जिससे बारिश और तूफान की संभावना हैं। ठंड भी बढ़ेगी।

भारतीय मौसम विभाग ने मंगलवार को जानकारी दी कि अगले 24 घंटों के दौरान पश्चिम-केंद्र और उत्तर-पश्चिम के आसपास बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव बनने की संभावना है।

इस वजह से आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय क्षेत्रों में अगले तीन दिन तक भारी बारिश होने का पूर्वानुमान है। वहीं, पश्चिमी हिमालय के क्षेत्रों में भी 31 अक्टूबर से 2 नवंबर तक वर्षा होने की उम्मीद है। इसके अलावा अन्य तटीय और दूरदराज के क्षेत्रों में गरज के साथ छींटे पड़ सकते हैं, जबकि कुछ जिलों में मौसम साफ बना रह सकता है।

मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है। वहीं, तमिलनाडु, पुड्डुचेरी, केरल, आंध्र प्रदेश आैर इससे लगे इलाके आैर कर्नाटक के इलाके शीत मानसून से प्रभावित रहेंगे।

मौसम विभाग के अनुसार, तूफान के कारण पश्चिम बंगाल के तटीय इलाके प्रभावित हो सकते हैं। इन इलाकों में अगले 24 घंटों में तूफान की वजह से हालात प्रतिकूल रहेंगे।

वहीं मौसम से संबंधित की जानकारी देने वाली निजी संस्था स्काई मेट के मुताबिक, उत्तर में कश्मीर, हिमाचल, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में मौसम सूखा रहने की संभावना है। रात में सर्दी और दिन में गर्मी जारी रहेगी।

बंगाल की खाड़ी पर उभर रहे एक निम्न दबाव के क्षेत्र के चलते तटीय आंध्र प्रदेश और तटीय ओडिशा के शहरों में अच्छी वर्षा हो सकती है। कोलकाता सहित दक्षिणी बंगाल और पूर्वोत्तर भारत के राज्यों में भी हल्की से मध्यम बारिश होने के आसार हैं।

इस बीच मध्य भारत में इस निम्न दबाव वाले क्षेत्र का कोई खास प्रभाव नहीं होगा हालांकि बंगाल की खाड़ी से नम हवाएं आएंगी। वहीं, राजस्थान के ऊपर एक एंटी-साइक्लोन बना हुआ है, जिसकी वजह से उत्तरी राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश का मौसम शुष्क रहेगा। दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण भी बढ़ेगा।

Top Stories