Saturday , December 16 2017

बंगाल ने रोका आलू, झारखंड की सरहद पर 300 ट्रक रोके, कीमतों में उछाल

मगरीबी बंगाल हुकूमत ने रियासत से आलू बाहर भेजने पर रोक लगा दी है। इस हुक्म के बाद झारखंड सरहद पर बहरागोड़ा-चाकुलिया के पास आलू लदे 300 ट्रकों को रोक दिया गया है। झारखंड जाने वाली सड़कों पर पहरा बिठा दिया गया है। मगरीबी बंगाल के जामबनी क

मगरीबी बंगाल हुकूमत ने रियासत से आलू बाहर भेजने पर रोक लगा दी है। इस हुक्म के बाद झारखंड सरहद पर बहरागोड़ा-चाकुलिया के पास आलू लदे 300 ट्रकों को रोक दिया गया है। झारखंड जाने वाली सड़कों पर पहरा बिठा दिया गया है। मगरीबी बंगाल के जामबनी के थानेदार बीके दास ने बताया कि एसएसपी की हिदायत पर कई मुकामात पर चेक नाका लगाया गया है। यहां सिर्फ आलू लदे गाड़ियों को रोकने का हुक्म दिया गया है। इधर, इस रोक के बाद झारखंड में आलू की कीमतों में उछाल आने लगा है। बुध को रांची में आलू के भाव चार रुपए बढ़कर 24 रुपए फी किलो पर पहुंच गए।

रोज 100 ट्रक की अावक

रांची की पंडरा मंडी के आलू-प्याज के कारोबारी संजय साहू ने बताया कि झारखंड में बंगाल से रोजाना करीब 100 ट्रक आलू आता है। सिर्फ रांची में ही 25 से 30 ट्रक आलू की रोजाना खपत है। मगर बुध को सिर्फ पांच-छह ट्रक आलू की ही आवक रही।

क्या होगा असर

अगर मगरीबी बंगाल ने जल्दी ही आलू पर से रोक नहीं हटाई तो झारखंड में आलू और महंगा हो जाएगा। मौजूदा में झारखंड में आलू का स्टॉक नहीं के बराबर है। खपत का करीब 90 फीसद हिस्सा बंगाल से आता है। इसलिए यहां ज्यादा असर पड़ने की एमकान है।

हुकूमत से बात करेंगे

झारखंड में आलू की सप्लाय चालू रखने के लिए हम रियासती हुकूमत से बात करेंगे। हमारा दरख्वास्त होगा कि इस मुद्दे पर झारखंड हुकूमत मगरीबी बंगाल हुकूमत से बात करे।
विकास कुमार सिंह, सदर , झारखंड चैंबर

TOPPOPULARRECENT