Wednesday , December 13 2017

बंद का मिलाजुला असर, 575 हामी अरेस्ट

मुक़ामी पॉलिसी लागू करने की मांग को लेकर क़बायली-असल बाशीदों तंज़िमों की तरफ से झारखंड बंद का दारुल हुकूमत के कई इलाकों में असर देखा गया। हालांकि एचइसी इलाके में बंद का असर नहीं दिखा। हिनू चौक, मेन रोड, सकरुलर रोड, मोरहाबादी, कडरू, अरग

मुक़ामी पॉलिसी लागू करने की मांग को लेकर क़बायली-असल बाशीदों तंज़िमों की तरफ से झारखंड बंद का दारुल हुकूमत के कई इलाकों में असर देखा गया। हालांकि एचइसी इलाके में बंद का असर नहीं दिखा। हिनू चौक, मेन रोड, सकरुलर रोड, मोरहाबादी, कडरू, अरगोड़ा चौक, पुरानी रांची, बरियातू, बूटी मोड़ समेत दीगर इलाकों में दुकानें बंद रहीं। तालीम अदारे भी बंद रहे। शहर के कई रूट पर ऑटो का चलना ठप रहा। बंद हामियों ने सड़कों पर गाड़ियों के शीशे तोड़े। इंतेजामिया की तरफ से तमाम चौक-चौराहों पर पुलिस अहलकारों को तैनात किया गया था। कई जगहों पर बंद हिमायतों व पुलिस में नोक-झोंक भी हुई। पुलिस ने 575 बंद हिमायतों को गिरफ्तार कर कैंप जेल भेजा। देर शाम रिहा कर दिया।

राह चलते लोगों को पीटा, गाड़ियों को बनाया निशाना

पुरानी रांची, अरगोड़ा चौक वगैरह इलाकों में झारखंड तालिबे इल्म यूनियन और आमया के आरकीन बंद कराने निकले। पुरानी रांची और अरगोड़ा बाइपास में टायर जला कर रास्ते को जाम किया गया। सदान संघर्ष मोरचा के कारकुन लालपुर समेत दीगर इलाकों में बंद कराने निकले। अरगोड़ा चौक, जेल चौक, कचहरी चौक पर बंद हामियों ने तोड़-फोड़ भी की। बहस करनेवाले कई राहगीरों से नोक -झोंक भी हुई। आदिवासी हॉस्टल के पास पाइप लगा कर सड़क को जाम किया गया। रांची कॉलेज सेंट्रल लाइब्रेरी के सामने कुछ कार ड्राइवरों और बाइक वालों को बंद हामियों ने खदेड़ा।

TOPPOPULARRECENT