Thursday , December 14 2017

बगैर किसी तफ़र्रुक़ा अवाम की ख़िदमत की तलक़ीन

मख़लूक़ की ख़िदमत से ख़ालिक़ की मदद हासिल होती है,मख़लूक़ की ख़िदमत ख़ुदा के यहां बहुत ही एहमीयत की हामिल है,मुस्लमानों को चाहीए कि वो अवाम की ख़िदमत में आगे रहीं ,इन बातों का इज़हार मौलाना सय्यद ज़ाकिर अहमद रशदी ने किया।

मख़लूक़ की ख़िदमत से ख़ालिक़ की मदद हासिल होती है,मख़लूक़ की ख़िदमत ख़ुदा के यहां बहुत ही एहमीयत की हामिल है,मुस्लमानों को चाहीए कि वो अवाम की ख़िदमत में आगे रहीं ,इन बातों का इज़हार मौलाना सय्यद ज़ाकिर अहमद रशदी ने किया।

सफ़ा-ए-बैत-उल-माल शाख़ करनूल के ज़ेर‍ ए‍ एहतेमाम ग़रीब नगर में मुफ़्त मेडीकल कैंप मुनाक़िद किया गया,इस कैंप में सफ़ा-ए-की जानिब से मुफ़्त तशख़ीस के इलावा दवाएं भी मुफ़्त तक़सीम किए गए,दो सौ से ज़ाइद मरीज़ों ने इस कैंप से इस्तेफ़ादा किया।इस मौक़ा पर सदर सफ़ा-ए-बैत-उल-माल शाख़ करनूल मौलाना सय्यद ज़ाकिर अहमद रशादी ने कहा कि अवाम की ख़िदमात को ज़्यादा से ज़्यादा से एहमीयत दें,क्योंकि मख़लूक़ की ख़िदमत से ख़ालिक़ की रज़ा‍ व खुशनूदी हासिल होती है,मज़हब वज़ात के तफ़र्रुक़ा के बगै़र अवाम की ख़िदमात अंजाम दी जा सकती हैं,क्योंकि मुहम्मद ( स्०अ०व०) की ज़िंदगी हमारे सामने है कि आप (स०अ०व०) ने कभी तआवुन व खिदमत के मुआमला में कभी ज़ात या मज़हब को आड़ नहीं लाया।

मज़ीद ये कि अवाम की ख़िदमात को एहमीयत देने से दावत दीन व तब्लीग़ में भी काफ़ी तआवुन मिल सकता है,क्योंकि आप (स्०अ०व्०) ने इस्लाम को अपने बेहतरीन अख़लाक़ की बुनियाद पर फैलाया,लोग आप (स्०अ०व्०) के अख़लाक़ करीमा से मुतास्सिर होकर ईमान कुबूल करते ,हम मुस्लमानों का मक़सद ज़िंदगी दावत ए दीन है ,ऐसे में बगै़र किसी तफ़र्रुक़ा के अवाम की ख़िदमत करने में दीन के फैलाने में काफ़ी आसानीयां पैदा हो सकती हैं।

मौलाना ने मज़ीद कहा कि सफ़ा का मक़सद भी दावत ए दीन है ,गोया इसी अहम मक़सद को मद्द-ए-नज़र रखते हुए सफ़ा की जानिब से अवाम की ख़िदमात को ज़्यादा तर्जीह दी जाती है,इस मौक़ा पर अरकान में हाफ़िज़ सलीम अहमद,हाफ़िज़ फ़ारूक़ अहमद,हाफ़िज़ नूर अहमद,हाफ़ित अबदुल्लाह और चांद बाशाह साहिब के इलावा कई अरकान विकार कनान शरीक रहे।

आख़िर में मौलाना ने मरीज़ों से इल्तिजा किया कि वो अख़लाक़ को अपनाएं ,क्योंकि अक्सर अमराज़ बदअख़लाक़ की वजह से पैदा होती हैं,गोया अच्छे अख़लाक़ से अच्छी सेहत भी मुम्किन है,मज़ीद बताया कि अमानतदारी वा इमान को हाथ से जाने ना दें,यही हमारा सरमाया है।

राजीव युवा करना लो का जॉब मेला
इस माह की 29 तारीख को सुबह 11 बजे से सिरिसिल्ला के मंडल परिषद दफ़्तर में राजीवयुवा करना लो के जॉब मेले का इनइक़ाद किया जा रहा है । डयार डी ए प्रोजेक्ट डायरेक्टर जय शंकरिया ने एक सहाफ़ती ब्यान में बताया । रूरल आई के पी अर्बन आई के पी ( मेपमा ) ज़िलई इम्पलायमेंट ओहदेदार के मुशरिका ज़ेर एहतेमाम इस जॉब मेले का इनइक़ाद किया जा रहा है ।

जबकि सिक्योरिटी , मार्केटिंग शोबों में ख़ानगी कंपनियों में अहल अफ़राद को मुलाज़मतें फ़राहम की जाएंगी । दसवीं जमात यह इससे ज़्यादा तालीमी काबिलियत रखने वाले 18 से 35 साल की उम्र के नौजवान ( लड़के-ओ-लड़कियां ) इस जॉब मेले को हाज़िर होकर मुलाज़मतें हासिल करने को किया । ज़िला के अहलियत रखने वाले नौ जो अन्नान इस मौक़ा से इस्तेफ़ादा करने प्रोजेक्ट डायरेक्टर ने सहाफ़ती बयान के ज़रीया हिदायत की |

TOPPOPULARRECENT