Monday , December 11 2017

बच्चों के कातिल कोली को 12 सितम्बर को मिलेगी फांसी

निठारी कांड के मुजरिम सुरिन्दर कोली को 12 सितम्बर को फांसी दी जाएगी। कोली को 14 साला लड़की की बेरहमी से कत्ल के जुर्म में फांसी की सजा सुनाई गई थी। जेल सुपरिटेंडेंट एसएचएम रिजवी ने बताया कि फांसी 12 सितम्बर को दी जाएगी और सभी नियम व कान

निठारी कांड के मुजरिम सुरिन्दर कोली को 12 सितम्बर को फांसी दी जाएगी। कोली को 14 साला लड़की की बेरहमी से कत्ल के जुर्म में फांसी की सजा सुनाई गई थी। जेल सुपरिटेंडेंट एसएचएम रिजवी ने बताया कि फांसी 12 सितम्बर को दी जाएगी और सभी नियम व कानूनों पर अमल किया जाएगा। कोली को चौधरी चरण सिंह जेल में फांसी दी जाएगी। इसी जेल में 39 साल पहले करण सिंह नाम के मुजरिम को फांसी दी गई थी।

बुध के रोज़ गाजियाबाद के एडिशनल सेशन जज अतुल कुमार गुप्ता ने कोली के खिलाफ वारंट जारी किया था। कोली को रिम्पा हलधर कत्ल केस और दिगर चार मामलों में फांसी की सजा सुनाई गई थी और गाजियाबाद जेल में बंद किया गया था। एनडीए हुकूमत में किसी मुजरिम को पहली बार फांसी दी जाएगी।

वज़ीर ए दाखिला राजनाथ सिंह ने सदर जम्हुरिया प्रणव मुखर्जी को कोली की रहम की दरखास्त को खारिज करने की सिफारिश की थी। इसके बाद सदर जम्हूरिया ने 27 जुलाई को कोली की दरखास्त खारिज कर दी थी।

कोली के खिलाफ 11 कत्ल के मामले चल रहे हैं। सीबीआई ने उसके खिलाफ 16 मामलों में चार्जशीट दायर की है जिसमें उस पर बच्चों का जिस्मानी इस्तेहसाल करने के बाद कत्ल का इल्ज़ाम है। मामलों का खुलासा 2006 में एक लड़की रिम्पा हलधर की गायब होने और कत्ल के बाद हुआ। जांच में खुलासा हुआ कि यह कत्ल कोली ने किया थी और वह दिगर कई बच्चों का कत्ल भी कर चुका है। कोली के घर के पास से बच्चों के कंकाल भी मिले थे।

TOPPOPULARRECENT