Friday , December 15 2017

बच्चों को ग़ैर तग़ज़िया बख्श ख़ुराक की फ़राहमी

वज़ीर-ए-आज़म के साबिक़ मददगार के आर वेनू गोपाल ने कहा कि वज़ीर-ए-आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह का ये कहना ग़लत है के, मुल्क में बच्चों को ग़ैर तग़ज़िया बख्श ख़ुराक की सरबराही क़ौम के लिए शर्मनाक है। उन्हों ने कहा कि शर्मनाक बात ये है के,

वज़ीर-ए-आज़म के साबिक़ मददगार के आर वेनू गोपाल ने कहा कि वज़ीर-ए-आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह का ये कहना ग़लत है के, मुल्क में बच्चों को ग़ैर तग़ज़िया बख्श ख़ुराक की सरबराही क़ौम के लिए शर्मनाक है। उन्हों ने कहा कि शर्मनाक बात ये है के, मनमोहन सिंह की हुकूमत जो 7 बरस से इक़तिदार पर है और वो अब तक भी बच्चों के लिए ग़ैर तग़ज़िया बख्श ख़ुराक की फ़राहमी को रोक नहीं सकी।

के आर वेनू गोपाल अपनी किताब बच्चों की मरबूत तरक़्क़ी की ख़िदमात फ्लैगशिप से इन्हिराफ़ पर मुबाहिस में इज़हार-ए-ख़्याल कर रहे थे। उन्हों ने कहा कि क़ौम के लिए तग़ज़िया बख्श ख़ुराक के मसला से निमटने के लिए 7 साल की मुद्दत काफ़ी थी। उन्हों ने कहा कि हुकूमत बच्चों की मरबूत तरक़्क़ी से मुताल्लिक़ सरकारी मौक़िफ़ रिपोर्ट पर कोई इक़दाम करने में नाकाम रही है। वेनू गोपाल ने अपनी किताब में बच्चों की मरबूत तरक़्क़ी के प्रोग्राम में अमल आवरी में नाकामियों पर रौशनी डाली है।

TOPPOPULARRECENT