Tuesday , December 12 2017

बच्‍चों से परेशान असातिज़ा, कहा हम स्कूल छोड़ देंगे

बिष्टुपुर वाकेय राम कृष्ण मिशन इंगलिश स्कूल के कुछ बच्चों के शरारत से असातिज़ा परेशान हैं। उन्होंने बच्चों से तंग आकर इंतेजामिया को खत लिख कर कहा है कि ऐसे बच्चे अगर स्कूल में रहते हैं, तो वे स्कूल में नहीं पढ़ा सकते हैं। असातिज़ा ऐ

बिष्टुपुर वाकेय राम कृष्ण मिशन इंगलिश स्कूल के कुछ बच्चों के शरारत से असातिज़ा परेशान हैं। उन्होंने बच्चों से तंग आकर इंतेजामिया को खत लिख कर कहा है कि ऐसे बच्चे अगर स्कूल में रहते हैं, तो वे स्कूल में नहीं पढ़ा सकते हैं। असातिज़ा ऐसे बच्चों का नाम भी इंतेजामिया को सौंपा है।

खत में असातिज़ा ने लिखा है कि करीब आधे दर्जन बच्चे न पढ़ते हैं, और न दूसरे बच्चों को पढ़ाने देते हैं। क्लास के दौरान वे टीचर से गैर जरूरी सवाल कर वक़्त बरबाद और डिस्टर्ब करते हैं। क्लास में छिप कर मुखतलिफ़ जानवरों की आवाज निकालते हैं। चंद बच्चों की वजह से पढ़ने का माहौल खराब हो रहा है। ऐसे बच्चे अगर स्कूल में रहते हैं, तो हम नौकरी नहीं कर सकते हैं।

इसमें नौवीं क्लास के उस तालिबे इल्म का नाम भी शामिल है, जिसने डीइओ ऑफिस में स्कूल इंतेजामिया पर फेल करने का इल्ज़ाम लगाया था। खत के मिलने के बाद स्कूल इंतेजामिया हरकत में आया है। इंतेजामिया ने उस तालिबे इल्म के गार्जियन को तलब कर मामले की जानकारी दी है। गार्जियन ने स्कूल इंतेजामिया से वक़्त मांगा है। गार्जियन ने तहरीरी तौर से इंतेजामिया को कहा है कि वे अपने बच्चे पर ध्यान देंगे। वाकिया दुबारा होने पर इंतेजामिया कार्रवाई करने को आज़ाद है।

TOPPOPULARRECENT