Friday , December 15 2017

बजट 2012-13-ए-की आज असम्बली में पॆशकश‌

हैदराबाद।१‍७ फरवरी (सियासत न्यूज़) रियास्ती वज़ीर फीनॆन्स‌ मिस्टर ए राम नारायण रेड्डी ने कहा कि साल 2012-13-ए-का सालाना रियास्ती बजट अवामी तवक़्क़ुआत-ओ-ज़रूरीयात की तकमील करने जैसा रहेगा जोकि जुमा 17 फरवरी को ठीक 12 बजकर 10 मिनट पर रियास्

हैदराबाद।१‍७ फरवरी (सियासत न्यूज़) रियास्ती वज़ीर फीनॆन्स‌ मिस्टर ए राम नारायण रेड्डी ने कहा कि साल 2012-13-ए-का सालाना रियास्ती बजट अवामी तवक़्क़ुआत-ओ-ज़रूरीयात की तकमील करने जैसा रहेगा जोकि जुमा 17 फरवरी को ठीक 12 बजकर 10 मिनट पर रियास्ती क़ानूनसाज़ असम्बली में पेश किया जाएगा और रियास्ती तारीख़ में पहली मर्तबा कल 17 फरवरी को रियास्ती बजट केलिए काग़ज़ का इस्तिमाल नहीं किया जाएगा और ये पेपरलेस बजट Paperless Budget) होगा। आज यहां रियास्ती सकरीटरीट में वाक़्य अपने चैंबर में अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए वज़ीर फ़ीनानस ने इस बात का इन्किशाफ़ करते हुए बताया कि आइन्दा साल से रियास्ती क़ानूनसाज़ कौंसल में भी किसी पेपर का इस्तिमाल किए बगै़र बजट पेश करने के लिए मूसिर इक़दामात किए जाएंगी।

उन्हों ने रियास्ती बजट की ऐवान में पीशकशी के मौक़ा पर तमाम अप्पोज़ीशन जमातों से भरपूरतआवुन करने की अपील की जबकि इस सिलसिले में वो तमाम अप्पोज़ीशन के क़ाइदीन से अपील करचुके हैं। वज़ीर फ़ीनानस ने रियास्ती बजट की तैय्यारी में जिन उमूर-ओ-एहमीयत का पास-ओ-लिहाज़ रखा गया, उस की तफ़सीलात बताते हुए कहा कि हुकूमत के मक़ासिद, पार्टी की पालिसीयों, इंतिख़ाबात के मौक़ा पर इंतिख़ाबी मंशूर में अवाम से किए हुए वादों को पूरा करनी, अवामी फ़लाह-ओ-बहबूद, रियासत की हमा जहती तरक़्क़ी पर अव्वलीनतर्जीह देते हुए सालाना रियास्ती बजट मुरत्तिब करने की कोशिश की गई।

उन्हों ने कहा कि रियासत के सालाना मंसूबा की 17 फरवरी की सुबह ही रियास्ती काबीना के इजलास में मंज़ूरी हासिल की जाएगी और बादअज़ां रियास्ती गवर्नर की मंज़ूरी हासिल करने के बाद रियास्ती बजट को क़ानूनसाज़ असैंबली में पेश किया जाएगा। वज़ीर मौसूफ़ ने मज़ीद कहा कि रियास्ती अवाम की तर्जीहात-ओ-तवक़्क़ुआत और ज़रूरीयात के मुताबिक़ ही मुख़्तलिफ़मह्कमाजात केलिए रक़ूमात मुख़तस की जाएंगी। रियासत की हमा जहती तरक़्क़ी वग़ैरा ही रियास्ती हुकूमत का अहम मक़सद होगा।

ताहम वज़ीर फ़ीनानस ने मज़ीद तफ़सीलात बताने से साफ़ इनकार करदिया और कहा कि रियास्ती असम्बली में कोई काग़ज़ के बगै़र रियास्ती बजट पेश करने में किसी किस्म की बदनीयती वग़ैरा हरगिज़ नहीं है और ये इक़दाम इस लिए भी किया जा रहा है कि अब तक तमाम अरकान असम्बली को कंप्यूटर्स , प्रिंटर्स, लयाप टॉप्स फ़राहम किए गए हैं और उन कंप्यूटर्स के इस्तिमाल से मुताल्लिक़ तर्बीयती प्रोग्राम भी मुकम्मल होचुका है और कई केलो वज़नी बजट दस्तावेज़ात पर मुश्तमिल कुतुबके बजाय ही इस मर्तबा सी डेज़ फ़राहम किए जाएंगी।

मिस्टर रेड्डी ने कहा कि फ़न्नीक़ाबिलीयत-ओ-महारत हासिल करके इस से इस्तिफ़ादा करने का ये पहला क़दम होगा।वज़ीर फ़ीनानस ने वाज़िह तौर पर कहा कि बजट तक़रीर मुकम्मल होने के साथ ही सालाना मंसूबा मसारिफ़ की मुकम्मल तफ़सीलात महिकमा फ़ीनानस के वैब साईट पर दस्तयाब रहेंगी। इस मौक़ा पर परनसपाल सैक्रेटरीज़ मसरस वे भास्कर और डाक्टर पी वे रमेश वग़ैरा भी मौजूद थी।

TOPPOPULARRECENT