Wednesday , July 18 2018

बजट 2017: अमीरों और गरीबों में कांग्रेस द्वारा बनाई गई खाई को भरने की कोशिश कर रही है सरकार: वेंकैया नायडू

नई दिल्ली: इस महीने के अंत में पेश किए जाने वाले आम बजट को कल वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रेल बजट के साथ पेश किया। आपको बता दें की 92 साल के बाद पहली बार रेल बजट को आम बजट के साथ पेश किया गया। जिसके कारण केंद्र सरकार इस साल के बजट को ऐतिहासिक और क्रांतिकारी बता रही है।

लेकिन वहीँ इस बजट को विपक्षी दल नकार रहे हैं। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने कहा कि इस बजट का कोई विज़न नहीं है। यह शेरोशायरी का बजट है। जेटली जी ने शेर-शायरी की, अच्छा भाषण पढ़ा पर बजट से उम्मीदें पूरी नहीं हुईं। इसमें केंद्र ने गरीब और आम जनता के लिए कुछ ख़ास नहीं किया।

दूसरी टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने भी इस बजट पर टिप्पणी करते हुए कहा कि ये आम बजट क्लूलेस, यूजलेस, बेसलेस, मिशनलेस और ऐक्शनलेस है। लेकिन इस सबके बीच बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू का कहना है कि कांग्रेस पार्टी ने गरीबों और अमीरों के बीच जो बहुत बड़ी खाईं बना डाली थी केंद्र सरकार द्वारा उस खाईं को इस बजट के जरिए भरने की कोशिश की जा रही है।

 नायडू ने कहा कि राहुल और ममता अपनी पार्टी लाइन के मुताबिक बोल रहे हैं। अगर वह बहस करना चाहते हैं तो सरकार बजट के सभी हिस्सों पर गहराई से बहस के लिए तैयार है।

TOPPOPULARRECENT