बड़ी छलांग: यह मुस्लिम देश स्पेश में दिखाने जा रही है कामयाबी!

बड़ी छलांग: यह मुस्लिम देश स्पेश में दिखाने जा रही है कामयाबी!

राष्ट्रपति रूहानी ने रॉकेट को देश की रक्षा का साधन बताया जिस पर ईरानी राष्ट्र गर्व करता है। उन्होंने गुरुवार को इस्लामी क्रान्ति हित संरक्षक परिषद के पूर्व अध्यक्ष दिवंगत आयतुल्लाह हाश्मी रफ़सन्जानी की दूसरी बरसी पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कहाः “अगले कुछ हफ़्ते में देश में निर्मित रॉकेट से 2 नए सैटलाइट अंतरिक्ष में भेजे जाएंगे।”

डॉक्टर हसन रूहानी ने कहा कि ईरानी राष्ट्र ने जेसीपीओए के ज़रिए बहुत बड़ा काम किया और इस सहमति की वजह से ईरान के ख़िलाफ़ सुरक्षा परिषद के 6 प्रस्ताव एक साथ ख़त्म हो गए।

उन्होंने कहा कि ईरान के ख़िलाफ़ थोपी गयी जंग का लक्ष्य सिर्फ़ सैन्य व ज़मीन हड़पना नहीं था बल्कि इस्लामी क्रान्ति के दुश्मन का मुख्य लक्ष्य इस क्रान्ति के अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रभाव को रोकना था।

उन्होंने दुश्मन की प्रौद्योगिक व रक्षा शक्ति की ओर इशारा करते हुए कहा कि दुश्मन पूरी शक्ति के साथ राजनैतिक व आर्थिक दबाव डालने के लिए ईरान के ख़िलाफ़ मैदान में आया लेकिन एकता व धैर्य से इस्लामी क्रान्ति के मार्ग को जारी रखा जा सकता है।

उन्होंने कहा कि आयतुल्लाह हाश्मी रफ़सन्जानी ईरान के सम्मान से जुड़ा हुआ है। ग़ौरतलब है कि आयतुल्लाह हाश्मी रफ़सन्जानी का 8 जनवरी 2017 को तेहरान में दिल का दौरा पड़ने से देहान्त हो गया।

साभार- ‘parstoday.com’

Top Stories