बड़े धमाकों के रांची लिंक की होगी जांच!

बड़े धमाकों के रांची लिंक की होगी जांच!
इंडियन मुजाहिदीन या सिमी ने हालिया बरसों में मुल्क भर में जितने भी बड़े धमाके किये हैं, उन तमाम के रांची से जुड़े तार की जांच की जा सकती है। पुलिस ज़राये के मुताबिक, जिन लोगों की मौलूसीयत के सिलसिले में जांच हो सकती है, उनमें पटना धमा

इंडियन मुजाहिदीन या सिमी ने हालिया बरसों में मुल्क भर में जितने भी बड़े धमाके किये हैं, उन तमाम के रांची से जुड़े तार की जांच की जा सकती है। पुलिस ज़राये के मुताबिक, जिन लोगों की मौलूसीयत के सिलसिले में जांच हो सकती है, उनमें पटना धमाके में गिरफ्तार या मुश्तबा आइएम के दहशतगर्द इम्तियाज, मुजिबुल, सलीम अंसारी, मोनू और हैदर समेत 10-12 लोग शामिल हैं।

एक ही तरह के टाइमर : पुलिस हेड क्वार्टर ज़राये के मुताबिक, जांच में अब तक जो बातें सामने आयी हैं, उसके मुताबिक बोध गया और पटना सीरियल बम ब्लास्ट में इस्तेमाल में लाये गये टाइमर और हिंदपीढ़ी के इरम लॉज से बरामद टाइमर घड़ी एक ही जैसे हैं। इम्तियाज के सीठियो वाक़ेय घर से बरामद टाइमर भी इसी तरह के हैं। इसके अलावा हैदराबाद बम धमाके के इल्ज़ाम में कांके से गिरफ्तार मंजर इमाम के सिलसिले में कुछ पेपर भी इरम लॉज से मिले हैं। पुलिस का मानना है कि आइएम के रांची मॉडय़ूल में शामिल लोगों का ताल्लुक साबिक़ में गिरफ्तार आइएम के दहशतगर्दों से रहा है।

धमाकों का मिलान किया जायेगा

मुल्क में 2006 से लेकर 2013 तक हुए धमाके की वारदातों में आइएम या सिमी के दहशत गर्दों की मौलूसीयत सामने आयी है। इनमें हैदराबाद, अजमेर, दिल्ली धमाके की वारदात शामिल हैं। ज़राये के मुताबिक, इन तमाम वारदात में रांची लिंक की जांच हो सकती है। साबिक़ में हुए धमाकों के बाद जब्त धमाकों का मिलान मौजूदा में जब्त धमाके के साथ किया जायेगा।

Top Stories