Sunday , December 17 2017

बद्री नाथ में फिर बारिश ,क़ौमी शाहराह बंद

देहरा दून 13 जुलाई : रात भर की बारिश की वजह से बद्री नाथ की क़ौमी शाहराह के दो मुक़ामात नंदप्रयाग और गाऊचर में मलबा जमा होजाने की वजह से बद्री नाथ जाने वाली क़ौमी शाहराह पर आना जाना मुशकिल‌ होगई।

देहरा दून 13 जुलाई : रात भर की बारिश की वजह से बद्री नाथ की क़ौमी शाहराह के दो मुक़ामात नंदप्रयाग और गाऊचर में मलबा जमा होजाने की वजह से बद्री नाथ जाने वाली क़ौमी शाहराह पर आना जाना मुशकिल‌ होगई।

आसमान‌ साफ़ होने की वजह से मुतास्सिरा इलाक़ों को फ़िज़ाई राहत सामान‌ मुम्किन होसका। ज़िला चमोली में रात भर ज़बरदस्त बारिश की वजह से बद्री नाथ जाने वाली क़ौमी शाहराह पर कीचड़ और मलबा जमा होगया था जिस की वजह से नंदप्रयाग और गाऊचर के क़रीब रास्ता बंद‌ होगया।

ताहम सरहदी शवारा तंज़ीम का अमला रास्ता साफ़ करने की कोशिशें जारी रखे हुए है। केदार नाथ को जाने वाला 14 किलो मीटर रास्ता मुकम्मल तौर पर बह गया है। फ़ौज ने उसकी तामीर और मुतबादिल रास्ता जिस की मुसाफ़त 20 किलो मीटर है, तामीर भी शुरू करदी है ताकि मंदिर तक जाने के लिए एक और रास्ता दस्तयाब रहे।

कार्रवाई का आग़ाज़ शहरी इंतिज़ामीया और एन डी आर एफ़ की दरख़ास्त पर किया गया है जिन्होंने दूसरा रास्ता क़ायम करने की ख़ाहिश की थी। फ़ौज के एक सरकारी बयान में कहा गया है कि नया रास्ता सून प्रयाग । गोमकर । देव विष्णु । धन गज गिरी । केदार नाथ का रास्ता होगा। जिस की मुसाफ़त तक़रीबन 20 किलो मीटर होगी और ये 13 हज़ार फ़ुट की बुलंदी पर तामीर किया जाएगा।

उतराखंड अक़ल्लीयती कमीशन ने जानी-ओ-माली नुक़्सान के बारे में अपनी रिपोर्ट क़ौमी अक़ल्लीयती कमीशन को रवाना करदी है। सदर नशीन रियास्ती कमीशन नरेंद्र जीत सिंह बिंद्रा ने कहा कि उन्होंने रिपोर्ट क़ौमी कमीशन को रवाना करदी है। अपनी रिपोर्ट में उन्होंने खबर‌ दी है कि 10 अफ़राद बिशमोल 3 मुस्लमान गोबिंद घाट के क़रीब फ़ौत होगए हैं।

हेम कुंड साहिब मंदिर का बाब अलद अखिला समझा जाता है जहां सुख और दीगर तबक़ात के यात्री अंदरून-ओ-बैरून-ए-रयासत से आया करते हैं। 4 सुख पाताल गंगा में ज़मीन खिसकने से और 3 मुस्लमान गोबिंद घाट की दरिया में ग़र्क़ होने से फ़ौत होगए।

TOPPOPULARRECENT