Thursday , December 14 2017

बमों से भागने वाले सरहदों की बंदिश से नहीं रुकेंगे – मीरकल

जर्मन चांसलर एंजिला मीरकल का कहना है कि मक्दूनिया और यूनान के माबैन सरहद बंद होने के बाद तारकीने वतन की हालते ज़ार भी उन्हें आगे आने से नहीं रोक सकेगी। मक्दूनिया ने मुहाजिरीन से झड़पों के बाद सरहद पर मज़ीद फ़ौज तैनात कर दी है।

जर्मनी की वफ़ाक़ी चांसलर एंजिला मीरकल मक्दूनिया में दाख़िल होने की कोशिश करने वाले तारकीने वतन को मुंतशिर करने के लिए आँसू गैस के इस्तेमाल और यूनान में फंसे तारकीने वतन की हालते ज़ार के बारे में एक मुक़ामी जर्मन अख़बार को दिए गए अपने एक इंटरव्यू में कहा, जो लोग हलब में बरसते बमों और दाइश की दहशत से फ़रार हो कर हिज्रत कर रहे हैं उन लोगों के लिए यूनान में तारकीने वतन की हालते ज़ार कोई मअनी नहीं रखती।

यूनान से जर्मनी और दीगर मग़रिबी यूरोपीय ममालिक पहुंचने के लिए तारकीने वतन बलक़ान की रियास्तों से गुज़र कर जा रहे थे ताहम गुज़िश्ता कुछ अर्से से मशरिक़ी यूरोपीय ममालिक ने अपनी सरहदें बंद करना शुरू कर दी हैं।

मक्दूनिया और यूनान के माबैन सरहद की बंदिश के बाद तारकीने वतन यूनान में फंस चुके हैं और ऐड विम्मीनी नामी सरहदी गुज़रगाह पर इन दिनों सात हज़ार से ज़ाइद पनाह गुज़ीन मक्दूनिया में दाख़िल होने के मुंतज़िर हैं।

TOPPOPULARRECENT