बम नहीं क्लॉक था: गिरफ़्तार मुस्लिम तालिबे इल्म के चर्चे

बम नहीं क्लॉक था: गिरफ़्तार मुस्लिम तालिबे इल्म के चर्चे
Click for full image

अमरीकी रियासत टेक्सास में बम बनाने के शुबे में गिरफ़्तार किए जाने वाले मुस्लिम तालिबे इल्म को वाईट हाऊस का दौरा करने की दावत गई है। इस तालिबे इल्म की बनाई हुई दस्ती घड़ी को बम समझ लिया गया था।

अमरीकी सदर बाराक ओबामा ने चौदह साला अहमद मुहम्मद की ज़हानत और सलाहीयतों का एतराफ़ करते हुए उनसे कहा है कि वो अपनी तख़लीक़ करदा घड़ी के साथ वाईट हाऊस आएं। ओबामा ने इस मौक़ा पर स्कूल की इंतेज़ामीया और उन पुलिस आफ़िसरान को डाँटा, जिन्हों ने अहमद की गिरफ़्तारी का दिफ़ा किया था।

अहमद को इस वाकिये के बाद स्कूल से भी निकाल दिया गया था। ओबामा की ट्वीट के मुताबिक़ ज़बरदस्त घड़ी, अहमद क्या तुम इसे लेकर वाईट हाऊस आना चाहोगे? हमें और भी बच्चों में तुम्हारी तरह साईंस में दिलचस्पी पैदा करनी होगी।

इस तरह अमरीका और भी कामयाब हो जाएगा। हाथों में हथकड़ी और अमरीकी ख़लाई मर्कज़ नासा की टी शर्ट पहने हुए अहमद की तस्वीर को लाखों मर्तबा रीट्वीट किया गया और #StandwithAhmed ट्वीटर का एक अहम तरीन हैश टैग भी बन गया है।

अपनी एक वीडीयो में अहमद ने कहा मुझे चीज़ें ईजाद करने में दिलचस्पी है। मैंने घड़ी बनाई और वो बहुत आसान थी। मैं सबको दिखाना चाहता था लेकिन वो उसे ग़लत समझ बैठे और मुझे हॉक्स बम बनाने के इल्ज़ाम में गिरफ़्तार कर लिया गया।

Top Stories