Sunday , December 17 2017

बम बलास्ट में मारी गईं पनामा पेपर्स लीक करने वाली महिला पत्रकार; डेफ़्ने कारूआना गालिज़िआ

पनामा पेपर्स के जरिए कई नकाबपोश धनकुबेरों का पर्दाफाश करने वाली पत्रकार डेफ़्ने कारूआना गालिज़िआ का निधन एक कार धमाके में हो गया, बताया जा रहा है कि महिला पत्रकार जिस कार में सवार थीं उसी कार में बम बलास्ट हुआ और उनकी मौत हो गई। इससे पहले डेफ़्ने ने पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराया था कि उन्हें धमकियां दी जा रही है।
पत्रकार ने पनामा पेपर्स के जरिए माल्टा के विदेशी कर पनाहगाह को लेकर खुलासा किया था कि कर चोरी के लिए दूसरे देशों में पनाहगाहों से द्वीपीय देश के संबंध हैं। उन्होंने लिखा था कि मस्कट की पत्नी और सरकार के चीफ ऑफ स्टाफ की, अजरबेजान से धन देने के लिए पनामा में विदेशी कंपनी थी
प्रधानमंत्री जोसेफ मस्कट के अनुसार 53 साल की डेफ़्ने माल्टा के मुख्य द्वीप में स्थित बड़े शहर मोस्टा में अपने घर से निकली ही थीं कि बम विस्फोट हो गया जिससे उनकी कार के परखच्चे उड़ गए.
मस्कट ने कहा कि पत्रकार की मौत एक ‘‘बर्बर हमला’’ है जो अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर भी हमला है. उन्होंने पत्रकार की हत्या की निंदा करते हुए कहा कि पत्रकार राजनीतिक और व्यक्तिगत स्तर पर मेरी कटु आलोचक थीं, लेकिन वह उनकी हत्या की निंदा करते हैं.
कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने आज माल्टा के अखबारों को बताया कि डेफ्ने ने दो सप्ताह पहले पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि उन्हें धमकियां मिल रही हैं

TOPPOPULARRECENT