Sunday , December 17 2017

बयानों की आग : लालू, अमित शाह और ओवैसी पर एफ़आईआर

पटना : एसेम्बली इंतिख़ाब में तशहीर के दौरान गलब जुबान का इस्तेमाल करने पर एलेक्शन कमीशन ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है़ भाजपा के क़ौमी सदर अमित शाह की तरफ से बेगूसराय के सिंघौल में 30 सितंबर को मुनक्कीद इंतिख़ाब सभा में राजद सदर लालू प्रसाद को चारा चोर कहा था़

इस लफ्ज के इस्तेमाल पर अमित शाह के खिलाफ अवामी नुमाइंदे एक्ट की दफ़ात के तहत पांच अक्तूबर को एफ़आईआर दर्ज की गयी है। वहीं, मंगल को इसी बयान को लेकर उनके खिलाफ जिला एलेक्शन ओहदेदार ने ज़ाब्ता एखलाक कानून के खिलाफवर्जी का मामला दर्ज कराया। एलेशन महकमा के तर्जुमान आर लक्ष्मणन ने इसकी तसदीक़ की है।

उन्होंने बताया कि इसके अलावा चार अक्तूबर को लालू प्रसाद ने सिकंदरा में मुनक्कीद सभा में अमित शाह को आदमखोर लफ्ज से खिताब किया था़ इसे ज़ाब्ता एखलाक का खिलाफवर्जी मानते हुए सिकंदरा थाने में मंगल को एफ़आईआर दर्ज की गयी़। लालू प्रसाद के खिलाफ दूसरी एफ़आईआर पटना के सेक्रेटरीयेट थाने में दर्ज किया गया है, जिसमें कहा गया है कि वे एक अक्तूबर को अपने रियाईशगाह से निकलते वक़्त भी अमित शाह को आदमखोर कहा था।

वहीं एमआइएम लीडर अकबरुद्दीन ओवैसी ने किशनगंज जिले के कोचाधामन के सोनाथा हाइस्कूल में चार अक्तूबर को मुनक्कीद इजलास को खिताब करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी को शैतान, दरिंदा वगैरह अलफाज से खिताब किया था़। इसे ज़ाब्ता एखलाक कानून का खिलाफवर्जी मानते हुए ओवैसी के खिलाफ एफ़आईआर दर्ज करायी गयी है़।

 

 

TOPPOPULARRECENT