Tuesday , July 17 2018

बरेली मरकज़ के उलेमा ने खोला मोर्चा, कहा मुस्लिम पर्सनल लॉ में दखल अंदाजी बर्दाश्त नहीं

बरेली : नबीरे आला हज़रत मुफ़्ती अख्तर रज़ा खान ने भी साफ तौर पर कहा कि मुस्लिम पर्सनल लॉ में दखल अंदाजी किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा केंद्र सरकार को शरीयत क़ानून में दखल ना देने की नसीहत दी है ! उन्होंने कहा कि अगर हुकूमत वक़्त रहते मान जाती है तो ठीक है वरना शरई कौंसिल ऑफ़ इंडिया एक्शन लेगी।

मुफ़्ती अख्तर रज़ा ने कहा कि मुस्लिम पर्सनल लॉ भारतीय संविधान में दी गई मजहबी आजादी के अनुसार ही है। मुस्लिम पर्सनल लॉ में किसी तरह की तब्दीली नहीं की जा सकती है। हदीस और शरीयत पर किसी किस्म की बहस कबूल नहीं की जाएगी। केंद्र सरकार का धार्मिक मामलों में हस्तक्षेप मुस्लिमों के हकों पर हमला और ¨हदुस्तानी रिवायात के खिलाफ है। मुस्लिम पर्सनल लॉ में तब्दीली बर्दाश्त नहीं होगी। इसके लिए चाहे आंदोलन ही क्यों न करना पड़ें।

TOPPOPULARRECENT