Friday , December 15 2017

बरेली मस्जिद में अज़ान पर हिंदूओं का एतराज़ किया मुस्लमानों से फ़साद

बरेली 21 अगस्त : उत्तरप्रदेश के टाउन बरेली में जुमा की नमाज़ के लिए लाउड स्पीकर अज़ान दीए जाने पर एतराज़ करते हुए हिंदूओं ने मुसलमानों के साथ झड़प की और फ़िर्कावाराना कशीदगी पैदा हो गई।

मस्जिद में अज़ान के लिए जब लाउड स्पीकर का इस्तेमाल किया गया तो मुक़ामी हिंदूओं ने एतराज़ किया। हिंदू तबक़ा से ताल्लुक़ रखने वाला एक ग्रुप ने हफ़ीज़ गंज इलाके में वाक़्ये मस्जिद में मुसलमानों से बेहस-ओ-तकरार की। इस के बाद दोनों तरफ से संगबारी की गई और सूरत-ए-हाल सख्त हो गई। ज़राए ने कहा कि यहां पर फायरिंग भी की गई।

तशद्दुद में 20 लोग ज़ख़मी हुए। पुलिस ने इब्तेदा में मामूली वाक़िया समझ कर ख़ामोशी इख़तियार करली थी तशद्दुद भड़कने पर पुलिस फ़ोर्स की बड़ी तादाद रवाना किया। जिसके बाद सूरत-ए-हाल पर क़ाबू पालिया गया।

पुलिस ने कहा कि इस इलाके में कशीदगी बरक़रार है। दोनों ग्रुप से ताल्लुक़ रखने वाले तक़रीबन 300 लोग तशद्दुद में शामिल थे। तब पुलिस की ज़ाइद फ़ोर्स वहां पहूँची तो ग्रुपस के अरकान फ़रार हो गए। उस के बाद पड़ोसी इलाक़ों से झड़पों की इत्तेलाआत मिली हैं और ये झड़पें शाम तक जारी थीं।

मुक़ामी पुलिस ने जो शाह-जहाँपूर में थी और वो वज़ीर-ए-दाख़िला राजनाथ सिंह के दौरे से पहले सेक्यूरिटी इंतेज़ामात में मसरूफ़ थी लेकिन यहां फ़साद को देखते हुए ज़ाइद फ़ोर्स को तलब कर लिया गया। पुलिस ने तसादुम और तशद्दुद में शामिल लोगों की निशानदेही कर के गिरफ्तारियां शुरू की हैं। ज़राए ने बताया कि इस इलाके में पिछ्ले एक हफ़्ते से कशीदगी पाई जाती है क्युं कि हिंदूओं ने लाउड स्पीकर अज़ान देने की मुख़ालिफ़त की थी।

TOPPOPULARRECENT