Sunday , December 17 2017

बर्क़ी (बिजली) बोहरान (संकट) , बच्चों की अम्वात-ओ-दीगर (दुसरे) अवामी मसाइल (समस्या) पर चीफ मिनिस्टर से नुमाइंदगी

!

! वाई एस आर कांग्रेस लेजसलेचर पार्टी के इजलास में बर्क़ी (बिजली) बोहरान (संकट) बच्चों की अम्वात के इलावा रियासत के दूसरे अवामी मसाइल (समस्या) पर तशवीश का इज़हार करते हुए 28 अगस्त को चीफ मिनिस्टर से मुलाक़ात करते हुए मसाइल (समस्या) का जायज़ा लेने के लिये फ़ौरी असैंबली का इजलास तलब करने की नुमाइंदगी करने का फैसला किया गया है ।

असैंबली के अहाते में मौजूद वाई एस आर कांग्रेस पार्टी के ऑफ़िस में अरकान असैंबली का हंगामी इजलास तलब किया गया जिस में हुकूमत पर अवामी मसाइल (समस्या) से राह फ़रार इख़तियार करने का इल्ज़ाम आइद किया गया। हुकूमत के ख़िलाफ़ एहितजाजी मुहिम शुरू करते हुए इस को अवामी मसाइल (समस्या) को हल करने के लिये मुसलसल झिनजोड़ते रहेगी । मसाइल (समस्या) को हल कराने के लिये एहतिजाज का कोई भी मौक़ा ज़ाए नहीं किया जाएगा ।

रियासत अवामी मसाइल (समस्या) की बदतरीन सूरत-ए-हाल से दो-चार है । वाई एस आर कांग्रेस पार्टी का एक वफ़द बरोज़ मंगल 28 अगस्त को चीफ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी से मुलाक़ात करते हुए अवामी मसाइल (समस्या) का जायज़ा लेने के लिये असैंबली इजलास तलब करने का मुतालिबा करते हुए एक याददाश्त पेश करेगा ।

उन्हों ने कहा कि सारे मुल्क में सब से ज़्यादा कांग्रेस के अरकान पार्लियामेंट आंधरा प्रदेश से मुंतख़ब हुए हैं मगर अफ़सोस इस बात का है कि वो रियासत के लिये बे फ़ैज़ साबित हो रहे हैं बल्कि ये कहने में कोई मुबालग़ा (बुरा) नहीं है कि वो रियासत के अवाम की इज़्ज़त-ओ-नफ़स को दिल्ली की गलियारियों में नीलाम कर रहे हैं । हुकूमत के पास दूर अंदेशी का फ़ुक़दान होने की वजह से रियासत बर्क़ी (बिजली) बोहरान (संकट) और दूसरे मसाइल (समस्या) से दो-चार है ।

TOPPOPULARRECENT