Wednesday , December 13 2017

बर्क़ी शरह में इज़ाफ़ा की तजवीज़ से दसतबरदारी का मुतालिबा(मांग‌)

हैदराबाद ०९जनवरी ( सियासत न्यूज़ )तलंगाना राष़्ट्रा समीती अरकान असैंबली के वफ़द ने आज चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी से मुलाक़ात की और रियासत में बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा की तजवीज़ से दसतबरदारी का मुतालिबा किया । अरकान असैंबल

हैदराबाद ०९जनवरी ( सियासत न्यूज़ )तलंगाना राष़्ट्रा समीती अरकान असैंबली के वफ़द ने आज चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी से मुलाक़ात की और रियासत में बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा की तजवीज़ से दसतबरदारी का मुतालिबा किया । अरकान असैंबली पोचारम श्रीनिवास‌ रेड्डी जोपली कृष्णा राव , गमपा गवर्धन और के इश्वर ने चीफ़ मिनिस्टर से सैक्ररैटरिएट‌ में मुलाक़ात और बर्क़ी सूरत-ए-हाल पर याददाश्त पेश की ।

उन्हों ने चीफ़ मिनिस्टर से मांग की कि बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा की तजवीज़ वापिस ली जाये और देही इलाक़ों में किसानों को 7 घंटे बर्क़ी सरबराह करने से मुताल्लिक़ वाअदे पर अमल किया जाये । बाद में अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए पोचारम सरीनवास रेड्डी ने कहा कि टी आर इसके एहतिजाज पर किरण कुमार रेड्डी ने ज़रई शोबा को 7 घंटे बर्क़ी सरबराह करने का वाअदा किया था लेकिन आज तक इस वाअदा पर अमल नहीं किया गया ।

उन्हों ने कहा कि हुकूमत बर्क़ी की सरबराही में तलंगाना के साथ जांबदारी का मौक़िफ़ इख़तियार किए हुए हैं । साहिली आंधरा में बर्क़ी का इस्तिमाल कम है लेकिन इन इलाक़ों के लिए ज़ाइद बर्क़ी सरबराह की जा रही है इस के बर ख़िलाफ़ तलंगाना में बर्क़ी की तलब कम है लेकिन हुकूमत की जानिब से बर्क़ी कम अलॉट की गई है । उन्हों ने तलंगाना के अज़ला के लिए तलब के मुताबिक़ बर्क़ी सरबराह करने का मुतालिबा किया ।

सरीनवास रेड्डी ने बताया कि चीफ़ मिनिस्टर ने तीक़न दिया कि अंदरून दो यौम वो बर्क़ी की सूरत-ए-हाल पर जायज़ा इजलास तलब करेंगे । उन्हों ने कहा कि सिरी राम सागर और निज़ाम सागर में पानी की कमी के बाइस आबपाशी की ज़रूरत की तकमील नहीं हो पा रही है ।

हुकूमत को चाहीए कि फसलों को नुक़्सान से बचाने के लिए 7 घंटे बर्क़ी सरबराही करें । उन्हों ने कहा कि अगर हुकूमत ज़रई शोबा को नज़रअंदाज करेगी तो किसान एहतिजाज के लिए सड़कों पर निकल आयेंगे । चीफ़ मिनिस्टर ने वफ़द को बताया कि बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा की तजवीज़ रैग्यूलेटरी कमीशन के पास ज़ेर-ए-ग़ौर है और हुकूमत ने अभी तक कोई फ़ैसला नहीं किया है ।

टी आर ऐस अरकान असैंबली ने बताया कि बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा की सूरत में अवाम पर 13 हज़ार करोड़ ज़ाइद बोझ आइद होगा । जो पली कृष्णा राव ने बताया कि हुकूमत 7 घंटे बर्क़ी सरबराही के वाअदे की तकमील में नाकाम हो चुकी है लिहाज़ा उसे चाहिए कि वो फसलों के नुक़्सान पर किसानों को मुआवज़ा अदा करें ।

उन्हों ने कहा कि तेलंगाना के 10 अज़ला में डिस्कॉम की नाएहली से गुज़शता बरसों में 10 हज़ार से ज़ाइद किसान बर्क़ी शॉक से फ़ौत हो चुके हैं । किसानों के ख़ानदानों को फी कस 5 लाख रुपय मुआवज़ा अदा किया जाना चाहिए ।

TOPPOPULARRECENT