Friday , December 15 2017

बर्खास्त बीएसएफ जवान ने कहा की वे भ्रष्ट व्यवस्था के खिलाफ आवाज़ उठाएंगे

मुंबई: यह दावा करते हुए कि उनकी लड़ाई सरकार के खिलाफ नहीं परन्तु भ्रष्ट प्रणाली के खिलाफ है, बीएसएफ के पूर्व कांस्टेबल ‘तेज बहादुर यादव’ ने सोमवार को कहा कि वे दिल्ली में जंतर मंतर पर एक दिवसीय विरोध प्रदर्शन करेंगे ताकि सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई कर सके।

सैनिकों को ख़राब खाना दिए जाने के बारे में एक वीडियो पोस्ट करने के बाद ‘यादव’ को बीएसएफ से बर्खास्त कर दिया गया था।

मुंबई में कांग्रेस के अध्यक्ष ‘संजय निरुपम’ द्वारा आयोजित सैनिको को सम्मानित करने के एक समारोह में भाग लेते हुए ‘यादव’ ने कहा कि सभी भारतीय सरकारें सैनिकों की इस हालत के लिए जिम्मेदार हैं और उन्होंने कहा कि वह किसी भी राजनीतिक दल का समर्थन नहीं करते हैं।

“हमारे विरोध प्रदर्शन मे मेरे सहकर्मी सैनिक भी शामिल होंगे और वे रक्षा क्षेत्र में हो रही प्रत्येक भ्रष्ट प्रथा की व्याख्या करेंगे। मेरी लड़ाई किसी भी धर्म या राजनीतिक दल के खिलाफ नहीं है, लेकिन इस व्यवस्था के खिलाफ है। ”

‘यादव’ ने कहा कि वे और उनके सहयोगी कुछ साल पहले कार्यकर्ता ‘अन्ना हजारे’ द्वारा किए गए आंदोलन के समान एक आंदोलन शुरू करने के लिए तैयार थे। “मैं किसी भी राजनीतिक दल और किसी भी नेता से मदद नहीं लेना चाहता हूं। हम यहां सिस्टम को बदलने के लिए हैं और हम इसे अपनी ताकत से बदलेंगे।”

इससे पहले ‘निरुपम’ ने  ‘यादव’ के साथ भारत सरकार द्वारा किये गए बर्ताव की आलोचना करी थी।

TOPPOPULARRECENT